• Breaking News

    रेल चली महाराष्ट्र के लिए मगर पहुंच गई मध्यप्रदेश, 1500 किसान बाल-बाल बचे

    रेल चली महाराष्ट्र के लिए मगर पहुंच गई मध्यप्रदेश, 1500 किसान बाल बाल बचे

    आजकल रेलवे से जुड़ी अजीबो-गरीब घटना देखने सुनने को मिल रही है. रेल आये दिन हो रहे दुर्घटना से डरे-सहमे यात्री ट्रेन में चढ़ने से पहले ही भगवान को याद कर लेते हैं. एक तरह से देखें तो देश का सबसे बड़ा यात्रा का जरिया माने जाने वाला रेल अपनी विश्वश्नीयता खोता जा रहा है.

    अभी 20 नवम्बर को दिल्ली में अपनी मांगों के लिए लाखों किसान प्रदर्शन के लिए आये थे. जानकारी के अनुसार लौटते समय महाराष्ट्र का ट्रेन पकड़ा और मध्यप्रदेश पहुंच गए. अब लोग भले ही इसे मजाक में ले रहें हो मगर यह बहुत ही गंभीर घटना है. आखिर ट्रेन गलत रूट पर गई तो कैसे? अगर इस दौरान कोई हादसा हो जाता तो इसकी जिम्मेवारी कौन लेता? अब चुंकि मिडिया में यह बात आई तभी हमें या आपको जानकारी मिल सकी, नहीं तो लापरवाही के हजारों मामले को तो हम जान भी नहीं पाते हैं.
     

    देश की राजधानी दिल्ली से तक़रीबन 1,500 किसानों ने एक स्पेशल ट्रेन ली. जिस ट्रेन को महाराष्ट्र के कोल्हापुर जाना था. मगर स्पेशल ट्रेन एक दो नहीं बल्कि तकरीबन 160 किलोमीटर गलत रूट पर चलकर सीधे मध्य प्रदेश तक पहुंच गई. अब आप ही सोचिये कि इस 160 किलोमीटर के बीच में कितने ही स्टेशन आये होंगे. क्या किसी भी स्टाफ/अधिकारी का ध्यान नहीं गया? क्या सभी के सभी सोये हुए थे?

    किसान दिल्ली से स्पेशल ट्रेन पर सवार होकर महाराष्ट्र के लिए निकले थे. इस स्पेशल ट्रेन को उत्तर प्रदेश के मथुरा से होकर कोटा, सूरत, मुंबई, पुणे के रास्ते कोल्हापुर जाना था. लेकिन, गलत सिग्नल मिलने की वजह से यह गाड़ी मथुरा से आगरा, ग्वालियर होते हुए मध्य प्रदेश के मुरैना जिले के बानमोर स्टेशन तक जा पहुंची. इसके बाद भी न तो ट्रेन को ड्राईवर, गार्ड और न ही किसी भी स्टेशन या कंट्रोल रूम को ही पता चल पाया. इसके बाद बानमोर के करीब पहुंचने के बाद किसानों को एहसास हुआ कि वो गलत रूट पर आ गए हैं. इसके बाद में किसानों ने ट्रेन ड्राइवर और स्टेशन मास्टर को इसकी जानकारी दी.
     

    इसके बाद गलती का अहसास होने के बाद रेलवे ने बानमोर से ट्रेन को ग्वालियर के रास्ते मथुरा के लिए रवाना कर दिया. अब मथुरा से यह ट्रेन वापस कोटा, सूरत, मुंबई होते हुए कोल्हापुर जाएगी. जनसत्ता के खबर के अनुसार फिलहाल इस ट्रेन के गुरुवार (23 नवंबर) सुबह छह बजे तक कोल्हापुर पहुंचने की बात कही गई है.

    यह भी पढ़ें-


    No comments:

    Post a Comment

    अपना कमेंट लिखें

    loading...