क्या आरबीआई और दिल्ली पुलिस DTC पर FIR दर्ज करायेगी

नोटबंदी के साथ ही एक और बड़ी मुसीबत का सामना आपको हर रोज करनी पड़ती होगी. जिसके बारे में शायद आपने ध्यान नही दिया हो या दिया भी होगा. आये हम उस समस्या के बारे में बात करते हैं. वो समस्या है 10 रूपये का सिक्का, जी हाँ. आये दिन नोटबंदी के बाद जिस तरह बाजार में खुल्ले की किल्लत है तो दूसरी तरफ 10 का सिक्का हर कोई लेने से इंकार करने लगा है. अब ने डिपो में जमा 10 के सिक्के लेने से मना कर दिया है. क्या आरबीआई और दिल्ली पुलिस DTC पर FIR दर्ज करायेगी?

क्या DTC पर FIR दर्ज करायेगी?

ऐसे में अगर आप दिल्ली में रहते हो और सरकारी विभाग यानी रोजमर्रे की सवारी गाड़ी डीटीसी यह 10 का सिक्का लेने से मना कर दे तो यकीन नही होगा. हाल ही में यानि 12 जनवरी 2017 को दिल्ली परिवहन निगम, गाजीपुर डिपो, नई दिल्ली-96 ने सं गापुडि// डी.प्र./निर्देश/ 2017/ जारी कर समवाहको को निर्देश दिया है कि डिपो के समस्त समवाहकों को सूचित किया जाता है कि डिपो का कैश आईसीआईसी बैंक में जमा किया जाता है जो कि सीएम्एस वैन द्वारा कलेक्ट किया जाता है. 
अब इन्होंने डिपो में जमा 10 के सिक्के लेने से मना कर दिया है.अतः उक्त स्थिति को मद्देनजर रखते हुए, सभी समवाहकों को निर्देश दिया जाता है कि वे अपनी ड्यूटी के दौरान 10 के सिक्के न लें ताकि डिपो के कार्य में सही समय पर जमा कैश जमा न होने पर कार्य में बाधा उत्पन्न न हो पाये.
अब किस कारण से ICICI या DTC ने यह कदम उठाया यह तो वे ही जाने मगर उनके इस कदम से कंडक्टर की मुसीबत बढ़ने वाली है. कुछ अफवाह 10 के सिक्के का नकली होने का आने पर RBI ने स्पष्ट किया कि यह सिक्के नकली नही हैं, दोनों सिक्के रिजर्व बैंक ने ही जारी किए हैं. इनमें कुछ अंतर जरूर है. ऐसे में लगातार फैल रही अफवाहों को ध्यान रखते हुए रिजर्व बैंक ने कहा है कि अगर कोई 10 का सिक्का लेने से मना करता है तो इसके लिए उसे सजा भी भुगतनी पड़ सकती है. ऐसे लोगों के खिलाफ भारतीय मुद्रा के अपमान का मामला दर्ज किया जा सकता है.
आरबीआई के नियमों के अनुसार अगर कोई चलन में मौजूद करेंसी को लेने से मना करता है तो उस पर देशद्राेह का मुकदमा दर्ज किया जा सकता है. सिक्के लेने से इंकार करने पर धारा 489 (ए), 489 (ई) और आईपीसी की धारा 121 के तहत कार्रवाई की जाएगी. अब सवाल यह उठता है कि क्या RBI या दिल्ली पुलिस द्वारा ICICI बैंक और DTC के ऊपर इस सर्कुलर के आधार पर राष्ट्रद्रोह का मुकदमा दर्ज किया जायेगा?
Share this

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए (यहाँ Click) करें.

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

Leave a Comment

error: Content is protected !!