मजदूरी के पैसे को लेकर हुई कहासुनी, ठेकेदार ने मजदूर को जिंदा दफनाया

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में हत्या का एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. जहां मजदूरी के पैसे मांगने पर ठेकेदार ने मजदूर मजदूर को निर्माणाधीन गोदाम की नींव में जिन्दा दफना दिया गया. सुनने में यहां तक आ रहा है कि टोना टोकटे चलते मजदूर को जिन्दा दफनाकर उसकी बली दी गई हैं ताकि मजबूत इमारत बन सके. फिलहाल पुलिस ने ठेकेदार और मुनीम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है.

मजदूर को जिंदा दफनाया

दरअसल जमुही गांव का रहने वाला मजदूर वेदपाल इसी गोदाम में मजदूरी कर रहा था लेकिन पिछले कई दिनों से ठेकेदार और मुनीम ने उसकी मजूदरी नहीं दी थी. बताया जा रहा है कि कल वेदपाल काम पर आया लेकिन घर वापस नहीं लौटा. जिसके जब घर वालों ने उसकी तलाश की तो उसका गमछा नींव के पास मिला और नीव में कुछ मिट्टी दिखाई दी.
शक होने पर जब घरवालों ने मिट्टी हटाई तो वेदपाल का दबा सिर दिखाई दिया. जिसके बाद तुरंत ही पुलिस को सूचना दी गई और पुलिस ने लोगों की मदद से खुदाई करके शव को बाहर निकवाया. इस दौरान लोगों की भारी भीड़ इकट्ठा हो गई.

मजदूरी के पैसे को लेकर हुई थी कहासुनी

पंजाब केसरी ने लिखा है कि परिवार वालों की माने तो मजदूरी के पैसों के चलते ही ठेकेदार शब्बीर और मुनीम रमेश ने ही मजदूर को नीव में जिन्दा दफन कर दिया. परिजन रामपाल का कहना है कि इससे पहले मजदूरी के पैसे को लेकर ठेकेदार और मृतक वेदपाल के बीच कहासुनी हुई थी. इसी वजह से ठेकेदार ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर वेदपाल की हत्या की है. घटना के बाद परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है.गांव के लोगों ने बलि की आशंका जताई.

मजदूरी मांगने पर किसी को जिन्दा दफनाने की इस घटना से इलाके में दहशत का माहौल बना हुआ है. चर्चा ये भी है कि टोना टोकटे चलते मजदूर को जिन्दा दफनाकर उसकी बली दी गई हैं ताकि मजबूत इमारत बन सके. फिलहाल ये एक अंधविश्वास है. पुलिस जल्द ही आरोपियों को पकडऩे का आश्वासन दिया है. 

यह भी पढ़ें-

Share this

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email करें – [email protected]

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

Leave a Comment