दिल्ली श्रममंत्री ने निरीक्षण कर लेबर अधिकारी को कारण बताओ नोटिस दिया

कल श्रममंत्री श्री मनीष सिसोदिया साउथ दिल्ली लेबर कमिश्नर ऑफिस निरीक्षण करने पहुँचे. जिसके बाद वहाँ अफरातफरी मच गई. वो ऑफिस के बाहर लेबर कार्ड के लिए सुबह 2-3 बजे से लाइन में लगे मजदूरों को देखकर लेबर अधिकारियों पर विफर पड़ें थे. जिसके बाद श्रममंत्री ने दो लेबर अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करने का आदेश दिया.

लेबर अधिकारी को कारण बताओ नोटिस

दिल्ली सरकार द्वारा कंस्ट्रक्शन वर्कर को कोरोना महामारी सहायता राशि एक मुश्त 5000/- रुपया का भुगतान किया जाना है. जिसके लिए उनको Labour Card बनाने और Renew करवाने को कहा गया है. इसकी सुविधा काफी पहले से हैं. मगर अभी हाल ही में दिल्ली लेबर विभाग द्वारा Online Registraion की शुरुआत की गई हैं. ऐसे देखें तो ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया काफी ही जटिल है. जिसकी सूचना कई बार हमने भी पूर्व के श्रममंत्री श्री गोपाल राय जी को दी. हालाँकि, अब लेबर विभाग ने भी ऑफिस में ही रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू की है.

मंहगाई भत्ता पर रोक लगा दी

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद दिल्ली का न्यूनतम वेतन में नवंबर 2019 में 37 फीसदी की वृद्धि की गई थी. जिसके बाद न्यूनतम वेतन अधिनियम के अनुसार साल में 2 बार, एक अप्रैल 2020 और दूसरा अक्टूबर 2020 में मंहगाई भत्ता का नोटिफिकेशन आना था. मगर लेबर विभाग के अधिकारियों की लापरवाही और मालिकों के साठगांठ से मंहगाई भत्ता पर ही रोक लगा दी गई.

यही नहीं बल्कि, अभी भी दिल्ली लेबर कमिश्रर ऑफिस के ऑफिसियल वेबसाइट Current Minium Wages in Delhi 14842 की जगह 14000 प्रकाशित कर रखा है. जिसका फायदा दिल्ली के मालिक मजदूरों को गुमराह कर उठा रहे हैं. जिसकी जानकारी भी हमने दिल्ली लेबर कमिश्नर ऑफिस में 8 महीना पहले दी थी. मगर वो जानबूझ कर न तो इसको सुधार ही किया और उसके साथ ही अब मंहगाई भत्ता भी रोक रखा हैं. इससे सरकार के नियत पर सीधा सवाल उठता है.

यह भी पढ़ें-

लेबर सेक्रेटरी को उचित करवाई का आदेश

सर्वश्रेष्ठ हिंदी कहानियां, लेख और प्रेरणादायक विचार के लिए विजिट करें - HindiChowk.Com

दिल्ली सरकार ने गोपाल राय की जगह अब श्री मनीष सिसोदिया को श्रम मंत्री का पदभार दिया है. जिसके बाद कुछ उम्मीद जगी और उनको दिल्ली के मजदूरों के मंहगाई भत्ता पर रोक की जानकारी दी. यही नहीं बल्कि उनको 16 Oct 2020 को एक ईमेल भेजकर भी स्थिति से अवगत करवाया. इस ईमेल के मात्र 1 घंटे के अंदर ही उनके तरफ से लेबर सेक्रेटरी को उचित करवाई का आदेश जारी किया जा चूका है.

यही नहीं बल्कि दिल्ली के तमाम मजदुर साथी हमारे द्वारा किये Tweet को लगातार Retweet कर सीधे श्रममंत्री वो मुख्यमंत्री श्री अरविन्द केजरीवाल तक अपनी बात पहुँचा रहे हैं. आप खुद भी हमारे नीचे दिए गए Tweet पर दिल्ली में मजदूरों का मैसेज पढ़ सकते हैं और Click कर अपना मैसेज भी लिख सकता हैं.

दिल्ली श्रममंत्री ने निरक्षण कर लेबर अधिकारी को कारण बताओ नोटिस दिया

https://www.youtube.com/watch?v=yrObNxZCeUM

आप तमाम साथियों के मेहनत और समर्थन का नतीजा है कि दिल्ली के श्रममंत्री ने लेबर विभाग के अधिकारियों की क्लास लगा दी हैं. उन्होंने स्पष्ट कहा हैं कि लापरवाही कतई बर्दास्त नहीं की जायेगी. इसके साथ मजदूरों के मेहनत की कमाई से कमीशन खाने वाले दलालो को जेल भेजने की बात तक कही हैं. उनका यह कार्रवाई कबीले तारीफ है. इससे भ्र्ष्ट अधिकारियो और लेबर का हक़ मारी करने वाले मालिकों में एक मैसेज जायेगा.

आपलोगों से भी अनुरोध है कि अगर आपको हमारा द्वारा दी जानकारी यूजफुल लगे तो हर वर्कर तक पहुँचाने में मदद करें. हर वर्कर जागरूक होगा तो एक दिन जरूर बदलाव आयेगा. इसके लिए आप सभी को पढ़ना होगा और अपने हक़ के लिए लड़ने को तैयार होना होगा.

यह भी पढ़ें-

Share this

पढ़ें WorkerVoice.in ब्लॉग और देखें WorkerVoice.in वीडियो यूट्यूब चैनल पर. जानिए मजदूरों एवं कर्मचारियों से सम्बंधित एम्प्लाइज न्यूज, पीएफ, ईएसआईसी, लेबर लॉ न्यूनतम मजदूरी की लेटेस्ट जानकारी News in Hindi. हमें Facebook, Twitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

2 thoughts on “दिल्ली श्रममंत्री ने निरीक्षण कर लेबर अधिकारी को कारण बताओ नोटिस दिया”

  1. 17 साल प्राइवेट नौकड़ी करने के बाद कंपनी अब नया ऐग्रीमेंट साइन करा है।
    टर्म कंडीसन इंगलिस में होने के कारन समझ नही आता क्या करे।

    Reply
    • लिखित में दें कि अंग्रेजी समझ ने नहीं आ रहा हिंदी में लिखकर दें

      Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!