Minimum Wages in UP October 2020 | उत्तर प्रदेश में न्यूनतम मजदूरी 2020

उत्तरप्रदेश सरकार के लेबर विभाग ने उत्तर प्रदेश में न्यूनतम मजदूरी 2020  (Minimum Wages in UP October 2020 to march 2021) जारी किया है. जिस नोटिफिकेशन के अनुसार यूपी राज्य के किसी भी जिले जैसे नोयडा, गाजियाबाद, कानपूर, लखनऊ आदि में कार्यरत कामगारों का 01 अक्टूबर 2020 से मंहगाई भत्ता का रकम बढ़ जायेगा. हम अपने इस पोस्ट के माध्यम से बताने जा रहे हैं कि इस नोटिफिकेशन से आपमें से किन-किन और कहाँ-कहाँ काम करने वाले कामगारों के वेतन में बढ़ोतरी होगी.

Minimum Wages in UP October 2020 | उत्तर प्रदेश में न्यूनतम मजदूरी 2020 pdf

श्री सियाराम, उपश्रमायुक्त, उत्तरप्रदेश, कृते श्रमायुक्त उत्तरप्रदेश ने 08 अक्टूबर 2020 को इस आदेश को जारी किया हैं. इस नोटिफिकेशन में प्रकाशित दर 74 नियोजनों में लागू होगा. जिसमें कि दूकान, होटल, रेस्टोरेंट, सिनेमाघर, छोटे उधोग, वाणिज्यिक प्रतिष्ठानो, कॉल सेंटर, आईटी इंडस्ट्रीज सहित नोटिफिकेशन में प्रकाशित 74 उधोग शामिल हैं. आपकी सुविधा के लिए हमने पोस्ट के अंत में नोटिफिकेशन का कॉपी उपलब्ध कराया हैं. जिसको डाउनलोड कर आप खुद से देख सकते हैं.

Minimum Wages in UP October 2020 | Uttar Pradesh Minimum Wages October 2020

Type of EmploymentBasic/ MonthVDA/MonthTotal/ DayTotal/Month
Unskilled57503008336.858758
Semi-skilled63253309370.549634
Skilled70853706415.0410791

अगर आप अपने सैलरी स्लिप में चेक करेंगे तो उपरोक्त बेसिक+डीए मिलाकर मासिक/प्रतिदिन के वेतन दर से कम भुगतान नहीं किया जा सकता है. हाँ, आपके PF और ESIC का कंट्रीब्यूशन इसमें (उपरोक्त दर) से ही कट कर IN HAND SALARY दिया जाना चाहिए. आप अपने मासिक सैलरी में 26 से भाग देकर 1 दिन का सैलरी निकाल सकते हैं. अगर इससे सम्बंधित कोई सवाल हो तो बेहिचक नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछें.

Minimum Wages in UP October 2020 to March 2021 | उत्तर प्रदेश में न्यूनतम मजदूरी 2020

Minimum Wages दर से कम भुगतान किया जा रहा हैं तो क्या करें?

अगर आपको उपरोक्त दर से कम भुगतान किया जा रहा हैं तो ऐसे में क्या करेंगे? इसके लिए आपको अपने एरिया के लेबर कमिश्रर ऑफिस में लिखित शिकायत करना होगा. अगर आप किसी ट्रेड यूनियन के सदस्य हैं तो यूनियन के माध्यम से नहीं तो खुद से भी सादे कागज़ पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं. मगर याद रहे जब भी शिकायत करें. आपको जितना कम पैसा (Minimum Wages) दिया जा रहा उसके दस गुणा हर्जाने की मांग करें. जब भी शिकायत करें, तब शिकायत का रिसीविंग जरूर लें. अगर सम्बंधित अधिकारी रिसीविंग न दें तो शिकायत पत्र का एक कॉपी स्पीड/रजिस्टर्ड पोस्ट से भेज दें. इसके बाद आगे कि कार्रवाई के लिए स्पीड/रजिस्टर्ड पोस्ट का स्लिप संभाल कर रखें.

केंद्रीय न्यूनतम वेतन 2020 (Central Sphere)

आप अगर उत्तरप्रदेश राज्य स्थित भारत सरकार (Central Goverment) के किसी विभाग/पीएसयू  (Railway, Postoffice, Nationalized Bank, Sail, etc) आदि में कॉन्ट्रैक्ट/आउटसोर्स वर्कर, डेलीवेजर आदि के रूप में कार्यरत हैं. ऐसे में आपको Center Sphere के दर के अनुसार मिलेगा. अभी जब तक Minimum Wages in Central Govt. (Center Sphere) 01 अक्टूबर 2020 का नोटिफिकेशन प्रकाशित नहीं हो जाता तब तक आपको Minimum Wages in Central Govt. (Center Sphere) 01 अप्रैल 2020 के अनुसार मिलेगा.

Minimum Wages in UP October 2020 to March 2021

यह भी पढ़ें-

Share this

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email करें – [email protected]

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

20 thoughts on “Minimum Wages in UP October 2020 | उत्तर प्रदेश में न्यूनतम मजदूरी 2020”

  1. महोदय उत्तर प्रदेश के सरकारी विभागों में नियमित वेतन भी समय से नहीं दिया जाता है

    Reply
    • आपलोग इसके लिए लेबर कमिश्रर ऑफिस में शिकायत लगा सकते हैं.

      Reply
  2. Pl. share what is NCR.

    Noida , Ghaziabad U. P. ke district hain to NCR kyo kaha jata hai.

    NCR means National Capital Reason

    Pure Bharat me ek hi best CM hai jisne labour ke socha. Baki sabhi apni gaddi ko rote hain.

    Reply
    • न्यूनतम वेतन अधिनियम के अनुसार दिल्ली का न्यूनतम वेतन केवल दिल्ली के जिलों में ही लागु होगा

      Reply
  3. Minimum wages ye to government ka ek dikhava hai labour ko bevkuf banane ka, koi bhi government isko lagu karvane ke liye aage nahi aati .
    Company me lebour ke koi rual nahi hote, na government ke lagu hote hai sirf factory maliko ke banaye rual hi chalte hai.
    Aaj bhi kanpur , unnao me 95% companies me minimum wages 200/220/250 pr dey (8 hours) milta hai. Koi lebour yadi lebour office me complain krta hai to companies pr koi karvahi nahi hoti balik lebour ko naukri khoni parti hai. Government aur midia dono hai punjipatiyo ke bikau Dalal hai.

    Reply
    • इसका सबसे बड़ा वजह हैं कि सरकारी तंत्र मजदूरों के लिए काम नहीं करती हैं

      Reply
  4. कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में 24 घंटे ड्यूटी करने पर 5750 रुपए दिया जाता है चपरासी चौकीदार को उत्तर प्रदेश

    Reply
  5. Barabanki me sarkari department me private worker krte hi Or poori salary bhi nhi dete hi complain krne pr nikalne ki dhamki bhi dete hi

    Reply
    • इसके लिए कम्प्लेन ही एकमात्र उपाय हैं अब आप देखिए कि आपको कम्प्लेन करना हैं या नहीं

      Reply
  6. Sir Noida main Aligarh bulandshahar wale worker KO kyo nahin company main Rakha jata hai Local kehkar nahin liya jata Aisa kyo

    Reply
    • ऐसा होना नहीं चाहिए अगर ऐसा हैं तो इसका साबुत के साथ आप डीएम को कम्प्लेन कर सकते हैं.

      Reply
  7. Restaurant aur hotel me kaam karne wale Labour ko salary dene ke liye koi salary slip ka Sujhaw de. Plzz

    Reply
    • आप बिलकुल अपने एम्प्लायर से मांग कर सकते हैं और अगर आपको नहीं दें तो आप अपने एरिया के लेबर कमिश्नर ऑफिस में शिकायत कर सकते हैं.

      Reply
    • अभी उसका नोटिफिकेशन नहीं आया हैं. उसमे एक फ्लोर वेज तय किया जायेगा.

      Reply
    • हमारे इस पोस्ट में बताया तो है. आप अपने कैटेगरी के अनुसार देखें

      Reply
  8. Computer Operator / Computer Assistant Ka Maday Kitna hoga Ajj Ke Hisab Se Clark ke barabar kaam leta hai election department me

    Reply
    • मानदेय और सैलरी में अंतर होता है और मानदेय का कोई रूल नहीं है.

      Reply

Leave a Comment