जेपी सिद्धार्थ और जेपी वसंत कॉन्टिनेंटल के कर्मचारियों का एक दिवसीय धरना प्रदर्शन

आज अपने मांगों के समर्थन में जेपी सिद्धार्थ और जेपी वसंत कॉन्टिनेंटल के कर्मचारियों ने दिनांक 17 अगस्त 2021 को एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। यह विरोध प्रदर्शन होटल कर्मचारीगण होटल मजदुर संघ के बैनर तले जेपी वसंत कॉन्टिनेंटल वसंत विहार के समक्ष आयोजित किया गया है। जिसमें होटल के तक़रीबन 300 से अधिक कर्मचारियों ने भाग लिया।

जेपी सिद्धार्थ और जेपी वसंत कॉन्टिनेंटल के कर्मचारियों का प्रदर्शन

देश में पिछले साल कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन किया गया था। जिसके बाद तो मानो कंपनी, फैक्ट्री, दूकान, होटल आदि बंद होते ही कमचारियों के ऊपर मुसीबत शुरू हो गई। उनकी सैलरी में कटौती शुरू कर दी गई। हालाँकि पिछले साल 2020 से अभी तक दो बार लॉकडाउन लग चुका है। अभी सरकार द्वारा कोरोना कम होने के बाद अनलॉक भी किया गया है।

जिसके बाद होटल में 50 फीसदी कर्मचारियों से काम करवाने के लिए बोला गया है। मगर अभी जिन 50 फीसदी कर्मचारी को एक दिन के अंतराल पर बुलाया जाता उनको आधी सैलरी दी जाती है। जिसके विरोध में जेपी सिद्धार्थ और जेपी वसंत कॉन्टिनेंटल के कर्मचारीगण पिछले साल से ही आंदोलनरत हैं। जिसको आगे जारी रखते हुए कल जेपी वसंत कॉन्टिनेंटल वसंत विहार के समक्ष प्रदर्शन किया।

सर्वश्रेष्ठ हिंदी कहानियों का संग्रह - हिंदी चौक डॉट कॉम

पिछले 2 साल से ड्यूटी पर नहीं बुलाया

यह प्रदर्शन होटल मजदूर संघ के उपाध्यक्ष श्री राम सिंह ओसवाल की अध्यक्षता में हुई। होटल मजदूर संघ के महासचिव श्री मुरारीलाल शर्मा ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि हम कर्मचारियों को पिछले 2 साल से न तो ड्यूटी पर बुलाया जा रहा है और मात्र 20 फीसदी वेतन का भुगतान दिया जा रहा है। ऐसे में हम अपने परिवार का पेट कैसे पालें? यही नहीं बल्कि दिल्ली सरकार द्वारा कर्मचारियों को मंहगाई भत्ता बढ़ोतरी का भी लाभ नहीं मिला।

अभी न तो किसी कर्मचारी को बोनस, पीएफ और न ही ईएसआई का लाभ ही मिल रहा। ऐसे में हमारी यूनियन ने शिकायत दिल्ली लेबर कमिश्नर ऑफिस में की थी। जिसके बाद अभी तक उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की। अब हाल यह है कि पिछले 15-20 साल से जेपी सिद्धार्थ और जेपी वसंत कॉन्टिनेंटल में काम करने वाले परमानेंट कर्मचारियों को खाने के लाले पड़े हुए हैं।

जेपी सिद्धार्थ और जेपी वसंत कॉन्टिनेंटल के कर्मचारियों का एक दिवसीय धरना प्रदर्शन

माँग पूरी नहीं होने से सड़क पर बैठना पड़ा

प्रदर्शनकारी कर्मचारी वीरेंद्र चौहान ने कहा कि जब हमने पिछली बार 12 जुलाई 2021 को प्रदर्शन किया था तो प्रबंधकों ने यूनियन के साथ मीटिंग कर माँगों को पूरा करने का आश्वाशन दिया था। मगर आजतक माँग पूरी नहीं होने से हमें सड़क पर बैठना पड़ा है। अगर मैनेजमेंट का यही रुख रहा तो मजबूरन हम अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन के लिए भी तैयार हैं। यह धरना प्रदर्शन में कैलाश चंद्र, राम गोपाल, जनक सिंह, अशोक कुमार, राजेश, नंद किशोर, देवेंद्र सिंह, सौरभ घई आदि कर्मचारी नेताओं ने भी सभा को संबोधित किया।

यह भी पढ़ें-

Share this

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए (यहाँ Click) करें.

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

Leave a Comment