Bihar Live Cities ने Sahara India का असल खबर न दिखा कर क्या दिखाया?

बिहार: सहारा इंडिया के फर्जीवाड़े की खबर हर घर तक पहुंच गया है। हम सभी राजनितिक पार्टी के प्रतिनिधि, मीडियाकर्मी तक लोगों के जागरूकता और आवाज उठाने में साथ देने के लिए सम्पर्क साध रहे हैं। इसी दरमियान पटना के बिहार का नंबर 1 का दावा करने वाले चैनल live cities के दफ्तर पहुंचें। जिसके बाद Bihar Live Cities ने Sahara India का असल खबर न दिखा कर क्या दिखाया?

Bihar Live Cities ने Sahara India का असल खबर

हम सहारा इंडिया फर्जीवाड़े की खबर चलवाने के लिए 10 मार्च 2022 को दोपहर 1 बजे पटना में Bihar live cities चैनल के ऑफिस गए। वहां के स्टाफ ने हमलोगों के द्वारा सहारा इंडिया फर्जीवाड़े के खिलाफ अभियान की तारीफ की और प्रधान सम्पादक नही हैं इसलिए 3 बजे आने को कहा।

जब फिर हम 3 बजे गए तो तकरीबन 1 घन्टा बैठाने के बाद एक भाई साहब आये और बोले कि ज्ञानेश्वर जी (प्रधान संपादक) नही हैं आप मैटर दे दीजिए। हम आपको जरूरत होगा तो बुला लेंगे। 

हम भारी मन से उनका नंबर लेकर बाहर निकले ही थे कि गेट के बाहर सिगरेट का सुट्टा मारते गणेश्वर जी दिख गएखैर, हम उनसे बात करने की कोशिश की तो उन्होंने कहा कि “अभी मेरे पास टाइम नही है आप कल 5:30 बजे शाम को आइये”. हम बोले कि ठीक है और घर चले आयेमेरे साथ देवानंद (आरटीआई एक्टिविस्ट) को थोड़ा हैरानी हुई। मगर जब जनहित का मामला है तो हमें इतना कष्ट तो उठाना ही पड़ेगा। 

सहारा इंडिया लेटेस्ट न्यूज़ 2022 today

हमने घर पहुंचने पर रात को देखा कि सहारा इंडिया के बारे में लाइव सिटीज पर एक वीडियो अपलोड किया है, मगर पूरा देखने पर पता चला कि वह पटना हाईकोर्ट में केस की जानकारी का न्यूज कम और एक वकील साहब के लिए प्रमोशनल वीडियो ज्यादा थाजिसमें घुमा-फिरा कर सहारा इंडिया का पैसा पाने के लिए वकील साहब को कॉल करने को कहा गया था

सहारा इंडिया बैंक की जानकारी 2022

जिसके बाद दूसरे दिन हमारे मित्र व सहयोगी देवानन्द भाई ने लाइव सिटीज में बताये नंबर वाले वकील साहब को फोन किया। उन्होंने कहा कि पटना हाईकोर्ट में सहारा इंडिया के केस में नाम जुड़वाने के लिए 5000 रुपया देना होगा। हम लाइव सिटीज के खबर का राज समझ गए। खैर, हम अभी भी यही कहेंगे कि अभी किसी को पैसा देने की जरूरत नही है। अभी तक सहारा इंडिया के पैसों के नाम पर न्यूज चैनल के द्वारा गुमराह किया जा रहा है। अभी से भी सतर्क हो जाए नही तो ठगे जायेंगे।
आपलोगों के साथ और समर्थन के बाद हमारे WorkerVoice.in के माध्यम से RBI द्वारा सहारा इंडिया का नॉन बैंकिंग लाइसेंस रद्द होने की जानकारी सभी तक पहुंचाने में सफल हुए हैंआगे भी हम आपके पैसा वापस पाने की लड़ाई में साथ हैंहमें आपलोगों की दुआ और साथ की जरूरत है। जय हिन्द।
यह भी पढ़ें-
Share this

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

Leave a Comment

error: Content is protected !!