छात्रों के आन्दोलन के आगे झुकी सरकार, रेलवे यह घोषणा करने जा रही

रेलवे भर्ती बोर्ड ने कई वर्षों के बाद Vacancy निकाली है. जिसकी आयु सीमा को लेकर पुरे देश में छात्र विरोध कर रहे थे. जो बड़ी खबर आ रही है उसके मुताबिक सरकार ने उनकी मांग को मान लिया है. दसवीं कक्षा के साथ आइटीआई पास अभ्यर्थियों के लिए वैकेंसी में ग्रुप डी के अभ्यर्थियों के लिए अधिकतम उम्र सीमा 28 साल रखी गई थी. जिसके बाद हर जिलें में छात्रों ने बड़ा आन्दोलन किया था. छात्रों के आन्दोलन का असर दिख रहा है.

छात्रों के आन्दोलन के आगे झुकी सरकार

इसी छात्रों के आन्दोलन के तहत बिहार के आरा के रेलवे स्टेशन ट्रेन को रोक कर हंगामा किया था. जिसके बाद छात्रों ने उग्र हो पुलिस पर पथराव भी किया. जिसके बाद पुलिस ने हवाई फायरिंग कर छात्रों से ट्रैक खाली करने का प्रयास भी किया. जिसके बाद छात्रों का गुस्सा और भी भड़क उठा. छात्रों ने नारेबाजी के बाद पथराव शुरू कर दिया जिसमें कुछ पुलिसकर्मी घायल भी हो गए हैं.
इसके बाद लगातार छात्रों के विरोध के कारण आज रेलवे मंत्री ने आश्वासन दिया है कि उम्र सीमा बढ़ाई जाएगी और अब उम्र सीमा 28 साल से 30 साल कर दी जाएगी. इससे आंदोलनकारी छात्रों को अपनी मांग और जीत पर काफी खुशी हो रही है. हालांकि अभी तक आईटीआई हटाने और फ़ीस कम करने को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ है.
सूत्रों के मुताबिक लेकिन उम्र सीमा बढ़ाने की जो मांग मान ली गई है उससे रेलवे की परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे छात्रों को इससे काफी राहत मिली है. छात्रों की मांग और आंदोलन को देखते हुए केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने रेलमंत्री पीयूष गोयल से बात की. रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि छात्रों की मांग को देखते हुए ग्रुप डी की उम्र सीमा में बदलाव कर उसे 28 से 30 किया जायेगा.
Share this

यदि आपके पास वर्कर से सम्बंधित हिंदी में कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे तुरंत ही email करें – [email protected]

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें .

Leave a Comment