सुप्रीम कोर्ट ने आधार लिंकिंग की डेट बढ़ाई, ऐसे करें Aadhar Biometrics Lock

सरकार ने Mobile और Bank Account का आधार कार्ड (Aadhar Linking) से लिंक के लिए Users को 31 मार्च 2018 तक का समय दिया था. जिसके बारे खबर है कि माननीय सुप्रीम कोर्ट ने इसकी आखिरी तिथि को बढ़ा दिया है. इसके बारे में सुप्रीम कोर्ट ने कहा जब तक आधार योजना की वैधता पर संविधान पीठ का फैसला नहीं आता तब तक लिंकिंग जरूरी नहीं है. इसका सीधा मतलब यह हुआ कि यदि जब तक सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ आधार को लिंक कराने से जुड़े मामले पर फैसला नहीं देती तब तक आधार को लिंक कराने की जरूरत नहीं है. आपने आधार कार्ड के दुरूपयोग से बचने के लिए ऐसे करें अपना Aadhar Biometrics Lock.

आधार लिंकिंग की डेट बढ़ाई, ऐसे करें Aadhar Biometrics Lock

एक तरह से कहे तो सरकार को करारा झटका लगा है. मामले की सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता में सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की संवैधानिक बेंच ने कहा कि सरकार आधार लिंकिंग पर किसी को बाध्य नहीं कर सकती.  इसके लिए सुप्रीम कोर्ट की तरफ से कोई तारीख निर्धारित नहीं की गई है.
जानकारी के लिए आपको बता दें कि मोबाइल, बैंकिंग, इनकम टैक्स, पैन कार्ड आदि से आधार को लिंक करने की आखिरी तारीख 31 मार्च 2018 थी. इससे पहले भी सुप्रीम कोर्ट ने ही  आधार लिंकिंग की अंतिम तिथि 23 फरवरी 2018 को बढ़ाकर 31 मार्च 2018 किया था.
जागरण के खबर के अनुसार आधार कानून की वैधानिकता के मामले में याचिकाकर्ताओं की ओर से वरिष्ठ वकील पी. चिदंबरम ने अपनी बहस पूरी कर ली. वरिष्ठ वकील केवी विश्वनाथन बुधवार को बहस करेंगे. मालूम हो कि आधार की वैधानिकता को विभिन्न याचिकाओं के जरिये सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है. याचिकाओं में आधार के लिए बायोमैट्रिक डेटा एकत्र किये जाने को निजता के मौलिक अधिकार का हनन बताया गया है. साथ ही डेटा लीक होने की आशंका के आधार पर योजना का विरोध किया गया है.
आपके आधार कार्ड के डेटा की सिक्योरिटी के लिए आधार ऑथरिटी ने Bio-metric Locking की सुविधा प्रदान की है. आइये इसके बारे में जानते हैं कि Aadhaar Bio metric locking सिस्टम क्या है? और घर बैठे ही अपने आधार Aadhar Biometrics को लॉक और अनलॉक कैसे कर सकते हैं.

 Aadhaar Bio metric locking सिस्टम क्या है?

यह सिस्टम के द्वारा आप अपने बॉयोमीट्रिक्स लॉक और अस्थायी रूप से अनलॉक कर सकते हैं. यह आपके बॉयोमीट्रिक्स डेटा की गोपनीयता को सुरक्षित रखने के लिए है.

Bio-metrics सिस्टम को कैसे Lock/Unlock करें?

एक बार आधार होल्डर बायोमेट्रिक लॉकिंग सिस्टम को ऑन कर ले यानी Enable कर ले तो तब तक वह खुद भी जब तक इसको Unlock नहीं करेगा तब तक कहीं भी फिंगर या रेटिना के द्वारा ऑथेंटिकेट नहीं कर सकता.

बॉयोमीट्रिक्स लॉक होने पर क्या होता है?

लॉक बॉयोमेट्रिक्स होने के बाद आप यानी की आधार धारक प्रमाणीकरण के लिए अपनी बॉयोमीट्रिक्स (फिंगरप्रिंट्स / आईरिस) का उपयोग करने में सक्षम नहीं होंगे.जिससे इस प्रकार के संभावित दुरुपयोग को रोका जा सकेगा. इस सेवा का लाभ उठाने के लिए पंजीकृत मोबाइल नंबर आवश्यक है यदि आपका मोबाइल नंबर आधार के साथ पंजीकृत नहीं है तो अभी अपने निकटतम नामांकन केंद्र / मोबाइल अपडेट एंड पॉइंट पर जाएं.

अपने Aadhar Biometrics Lock ऐसे करें-

  1. इसके लिए सबसे पहल आधार कार्ड के ऑफिसियल वेबसाइट https://uidai.gov.in को ओपन करें.
  2. इस पेज पर आपको आधार ऑनलाइन सर्विस में तीन विकल्प दिखाई देंगे. इनमें सबसे आखिरी वाले Aadhaar Service में तीसरे नंबर पर Lock/Unlock Biometrics का विकल्प पर क्लिक करना होगा या सीधा यहां क्लीक कर पेज खोलें.
  3. इसके बाद जो पेज खुलेगा उसपर अपना आधार कार्ड नंबर और सिक्योरिटी कोड जो कि बगल के बॉक्स में है उनको भरने के लिए ऑप्शन मौजूद होगा. इसको भरने के बाद सीधा Send OPT पर क्लिक कर दें.
  4. इस पर क्लिक करते ही आधार नंबर के साथ रजिस्टर मोबाइल नंबर पर ओटीपी आ जाएगा.
  5. इसमें अपना आधार के तरफ से प्राप्त OTP डालकर लॉगिन कर लें.
  6. आधार कार्ड का डेटा लॉक करने के लिए फिर से सिक्योरिटी कोड डालकर Enable पर क्लिक करें.
  7. आप जैसे ही क्लीक करेंगे वैसे ही “Congratulation! Your Biometrics is Locked” लिखा आ जाएगा.
आप सोच रहे होंगे कि आधार, मोबाइल और बैंक का अकाउंट एक साथ जुड़ से क्या हो सकता है? तो समझिये कि फोन पर किसी फ्रॉड का कॉल आया. वह किसी अनपढ़ लोगों को कहेगा कि आपके नाम से सरकार ने पैसा दिया है. इसको पाने के लिए IVR के कहे अनुसार बटन दबाये और जैसे ही बटन दबायेंगे वैसे ही पलक झपकते ही बैंक Acccount सारा पैसा गायब. इस तरह की कई फ्रॉड घटना की खबर आ चुकी है.
साथियों, सबसे ऑनलाइन या डिजिटल माध्यम से सबसे ज्यादा फ्रॉड अनपढ़ और गरीब लोगों के साथ ही होता है. उम्मीद करूंगा कि इस जानकारी के माध्यम से अपने आसपास में रहने वाले गरीब अनपढ़ लोगों के आधार लॉक और उसके दुरूपयोग से बचने की जानकारी देने में मदद करेंगे.
हम तो कहेंगे कि अभी से ही उनको आधार ही क्या, लालच देकर फ़ोन आदि के माध्यम से Online फ्रॉड से बचने का तरीका भी सिखाये. हमने देखा है कि पढ़े लिखे लोगो का पैसा अकॉउंट से फ्रॉड कर लिया जाता और पुलिस कुछ नहीं करती तो उनका सोचिये जिनको एटीएम का ABC तक नहीं पता. कोई सवाल तो कमेंट बॉक्स में लिखियेगा.
यह भी पढ़े-
Share this

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए (यहाँ Click) करें.

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

Leave a Comment

error: Content is protected !!