IRCTC ने 11 कॉन्ट्रैक्ट वर्कर को परमानेंट किया, क्या अब आउटसोर्स वर्कर को भी करेंगे

भारतीय रेल का पीएसयू आईआरसीटीसी को मुख्यतः खानपान, टूरिज़म और ई-टिकटिंग की जिम्मेवारी दी गई है. आईआरसीटीसी का मुख्यालय नई दिल्ली के बाराखंभा रोड स्थित स्टेटमेंटस हाउस के 11 वे तल पर हैं. इसी महीने के 12.02.2018 को पी.सी. बिहारी, जॉइंट जेनरल मैनेजर एचआरडी, कॉर्पोरेट्स ऑफिस नई दिल्ली ने एक ऑफिस ऑर्डर संख्या 21/2018 जारी कर IRCTC ने 11 कॉन्ट्रैक्ट वर्कर को परमानेंट कर दिया है.

IRCTC ने 11 कॉन्ट्रैक्ट वर्कर को परमानेंट किया

हमारी हमेशा से कोशिश रही है कि आईआरसीटीसी ही में क्यों, बल्कि हर वो सरकारी से लेकर प्राइवेट कम्पनी में जो भी वर्कर ठेका सिस्टम के नाम पर शोषित हो रहे, उनको उनका हक़ मिलना चाहिए. जब मैंने पुरे भारत के ठेका वर्कर के समान काम का समान वेतन के लिए दिल्ली हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर किया तो मैनेजमेंट और मालिक पक्ष के कुछ लोग कहने लगे कि “देखो-देखो यह तो राजनिति करना लगा, इसको तो केवल आईआरसीटीसी वर्करों के लिए मांग करना चाहिए था, यह तो अपना चेहरा चमकना चाहता है, आदि-आदि”.

खैर इसका फायदा मिला. अब आप ही सोचिये कि जनहित याचिका का फैसला आये 1 वर्ष होने जा रहा है. इस फैसला के बाद केंद्र सरकार ने Central Government के अंतर्गत काम करने वाले लगभग 19 लाख+ से अधिक ठेका कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन लगभग 9 हजार से बढाकर सीधे 14 हजार मासिक कर दिया. जिसके बाद ठेका पर काम करने वाले ग्रेडुएट कर्मचारियों का 18460 (बेसिक+डीए) हो गया. इसका लाभ सबसे पहले किसी को मिला तो वह आईआरसीटीसी का कर्मचारी ही है.

आउटसोर्स वर्कर के लिए 25 से 50 हजार मासिक सैलरी

हमारे संघर्ष के कारण वैसे भी अब आईआरसीटीसी में आउटसोर्स वर्कर के लिए 25 से 50 हजार मासिक सैलरी का सर्कुलर बन चूका है. जानकारी के अनुसार नए भर्ती किये 50+ वर्कर को इसका लाभ मिल भी रहा है. आप में जिसको भी लगता है कि आप रेगुलर वर्कर के बराबर काम कर रहे और आपको भी समान वेतन मिलना चाहिए तो आज ही खुद या यूनियन के माध्यम से DLC(C) ऑफिस में अप्लीकेशन लगा सकते हैं. दिल्ली हाई कोर्ट के जनहित याचिका के ऑर्डर के अनुसार 3 महीने में जांच कर लागु किया जायेगा.

क्या अब आउटसोर्स वर्कर को भी परमानेंट करेंगे?

इस बात की जानकारी जैसे ही हमें मिली वैसे हो आपलोगों तक ऊपर के वीडियो के माध्यम से आपतक जानकारी पहुंचाई. इसके बारे में बहुत से लोगो को अभी भी विश्वास नहीं हो रहा है. इसलिए मुझे यह पोस्ट लिखना पड़ रहा है. काफी लोगों ने विभिन्न माध्यम से इसके बारे में सवाल किया है. इससे काफी लोगों की उम्मीद जगी है. इन सभी बातों की जानकारी देने से पहले अगर आपने अभी तक वीडियों नहीं देखा तो ऊपर  के लिंक क्लिक कर पहले वीडियों देखें.

अब सीधे सब्जेक्ट पर आते हैं. इस पोस्ट के साथ वह सर्कुलर (पोस्ट के लास्ट में) भी दे रहा हूं, ताकि आपको विश्वास हो जाए कि सचमुच में IRCTC ने 11 कॉन्ट्रैक्ट वर्कर को परमानेंट किया गया है? हमारी उन 11 लोगो से कोई दुश्मनी नहीं है, बल्कि मांग यह है कि अगर वो परमानेंट हो सकते तो आप (आउटसोर्स वर्कर) क्यों नहीं?

क्या अब आउटसोर्स वर्कर को भी करेंगे

आप ही सोचिये कि आखिर क्यों आउटसोर्स वर्कर पिछले 13 साल से लगातार एक ही पद पर काम कर रहे है?आपको आपका हक़ नहीं मिला इसके लिए कहीं न कहीं आप ही लोग दोषी हैं. आपका दोष बस इतना है कि आप अपने लिए लड़ नहीं सकते और अगर आपके लिए कोई लड़ने के लिए कोई खड़ा हो तो उनको सपोर्ट कर नहीं सकते. कुछ तो उससे भी आगे जाकर लड़ने वाले का टांग तक खींचने से बाज नहीं आते. दोस्तों सच ही कहा गया है कि अगर कुल्हाड़ी में लकड़ी का हत्था लगा नहीं तो वह पेड़ नहीं काट सकता.

जनहित याचिका: मांगा समान काम का समान वेतन, मिला नया न्यूनतम वेतन

आईआरसीटीसी कॉर्पोरेट ऑफिस की एक महिला साथी ने सवाल किया था कि क्या आउटसोर्स भी परमानेंट हो सकता है. हमने कहा जी जरूर हो सकता है, अगर मैनेजमेंट चाहे तो. अब खुद मैनेजमेंट चाहेगा नहीं और उसके लिए आपको मांग उठानी पड़ेगी. जब इंटरव्यू के आधार पर कैम्पस सलेक्शन वाले परमानेंट हो सकते, 8वीं क्लास TADK पास 3 साल में परमानेंट हो सकता तो आप 3-13 साल में क्यों नहीं? कुछ लोगों ने सवाल किया था कि क्या अब से भी हम लड़ सकते हैं. जी जरूर, लड़ना आपको ही है तो जब चाहे लड़ सकते हैं. इसके लिए पहले आपको खुद पर भरोषा करना होगा.

हमारी लड़ाई जारी है और जीतने तक जारी रहेगी. आप अभी से भी आप इस लड़ाई में शामिल होंगे तो यकीन मानिये लड़ाई और तेज होगी और फैसला भी जल्दी होगा. जब चाहे आप संपर्क कर सकते हैं. हम न तो पिछले 5 साल में झुके हैं और न झुकेंगे न भागे हैं और न भागेंगे …जीत हासिल कर के ही दम लेंगे.

“रेस वो लोग करते है, जिसे अपनी किस्मत आजमानी हो,
हम तो वो खिलाड़ी है, जो अपनी किस्मत के साथ खेलते है”.

IRCTC Regularized the 11 Contract Worker

यह भी पढ़ें-

Share this

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email करें – [email protected]

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

16 thoughts on “IRCTC ने 11 कॉन्ट्रैक्ट वर्कर को परमानेंट किया, क्या अब आउटसोर्स वर्कर को भी करेंगे”

  1. Sir ek bat batya hume ki delhi ke jawahar lal nehru university mai delhi goverment ki minimum wages lagu honi chiya ya central goverment ki

    Reply
  2. Sir me irctc se tickets booking office me jana chahta Hu Sir ye sarkari hai ya pvt hai Sir iska salary kiya milega please reply me

    Reply
  3. Dost, aapne yah nhi bataya ki aapki joining regular basis pr ho rhi ya contract base pr. IRCTC waise to Ministry of Railway ka PSU Hai, Magar contract pr bhi worker rakhe jaate hain. Haan agr contra pr join krte hain to Central Govt ka mininmi wages milna chaahie. Eske lie hmra Labour Help Column dekhen.

    Reply
  4. Sir, I want ac coach attentand job.please tell me the details and help me
    My number -9437401924
    Email- luluibibo[at]gmail.com

    Reply
  5. Kya details chahiye aapko? please batayen aur aapko central govt ka minimum wages mil rha hai ki nhi?

    Reply
  6. Shitesh Lal jee, Thora wait kar lijiye. Abhi esi month pta chal jayega. Abhi Delhi Govt ne Minimum Wages 39% decrease kar diya hai. Uske tahat ab fir se wahi purana wala minimum wages milega. Agar aapka kam nhi hota tab to maan jayenge n? yah news padhiye aur apne sathiyon ko bhi share kijiye –

    Minimum Wages in Delhi revised Notification 05.08.2018 किया जारी, Download Here
    workervoice.in/2018/09/minimum-wages-in-delhi-revised.html

    Reply
  7. Sir agar indian railways me outsourcing ke madhyam se ticket Babu ki post permanent Mili hi to kya same benefit milega jaisa ki normal hota hai please tell me sir.

    Reply
  8. आपने यह नहीं लिखा कि आप किस स्टेट में काम कर रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट के २६ अक्टूबर २०१६ के फैसले एक अनुसार सभी तरह यानी ऑउटसोस, कैसुअल आदि वर्कर यदि परमानेंट के बराबर काम करते है तो उसको समान वेतन पाने का हक हैं. आप भी उसी में आते हैं. मगर ये आपको इतनी आसानी से नहीं देंगे. ऐसे आपको कितने सैलरी मिलनी चाहिए इसकी जानकारी के लिए हमारे इस पोस्ट को पढ़िए –

    Central Government के Contract Worker का दिल्ली से भी ज्यादा सैलरी है इन शहरों में
    workervoice.in/2019/02/Central-Government-Contract-Worker-Delhi-Salary-City.html

    Reply

Leave a Comment