• Breaking News

    अब रेलवे 1.1 लाख पदों पर बहाली लेगा, मगर कुल रिक्त पदों की संख्या जानकार होश उड़ जायेंगे

    अब रेलवे 1.1 लाख पदों पर बहाली लेगा, मगर कुल रिक्त पदों की संख्या जानकार होश उड़ जायेंगे

    नई दिल्ली. देश में बेरोजगार युवा के लिए सरकार ने रेलवे ने 20,000 पदों पर न्युक्ति बढ़ा दिया है. इस सन्दर्भ में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर जानकारी दी कि अब भारतीय रेलवे 1 लाख से ज़्यादा नौकरियों की प्रक्रिया शुरू कर चुका है. रेलवे पूर्व में की गयी 90,000 रिक्तियों पर भर्ती के अलावा 20,000 और लोगों की भर्ती करेगा. उन्होंने लिखा कि उपलब्ध रिक्तियां अब पूर्व के 90,000 से बढ़ा कर एक लाख दस हजार कर दी गयी है. 

    इस सन्दर्भ में रेल अधिकारियों ने बताया कि रेल पुलिस, लोकोमोटिव चालक एवं तकनीशियनों की नौकरियों के लिए ऑनलाइन परीक्षाएं ली जायेंगी. रेलवे सब इंस्पेक्टर पद पर 1111 नौकरी और कांस्टेबल पद पर 9100 नौकरी देने जा रहा है. इनमें 4200 पद महिलाओं के लिए आरक्षित होंगे. सब इंस्पेक्टर पद के लिए न्यूनतम योग्यता ग्रेजुएशन होगा जबकि कांस्टेबल के लिए 10वीं पास लोग अप्लाई कर सकते हैं.
     

    मंत्री महोदय ने कहा कि रेल पुलिस बल (आरपीएफ) एवं रेल सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) में कुल 9,000 पद रिक्त है और 10,000 से ज्यादा अतिरिक्त नौकरियां हैं. ग्रुप सी (26,502 अतिरिक्त लोको पायलट( एएलपी) एवं तकनीशियन पदों) और ग्रुप डी (62,907 पदों) के लिए अधिसूचना एवं आवेदन पहले ही जारी कर दिये गये हैं. आरपीएफ और आरपीएसएफ के लिए अधिसूचना मई, 2018 में प्रकाशित की जायेंगी.
     

    बता दें कि  फिजिकल टेस्ट में पुरुषों को 5:45  मिनट में 1600 मीटर की दौड़ पूरी करनी होगी जबकि महिलाओं को 3:40 मिनट में 800 मीटर की दौड़ पूरी करनी होगी. फिर पुरुषों को 14 फुट और महिलाओं को 9 फुट लांग जम्प और 4 फुट और 3 फुट का हाई जम्प टेस्ट पास करना होगा.

    रेलवे में कुल रिक्त पद जानकार होश उड़ जायेंगे.

    जहां सरकार के फैसले से कुछ लोग खुश है तो वही दूसरी तरह लोग यह भी कह रहे है कि यह सरकार का चुनावी स्टंट हैं. ऐसे राज्य सभा में सांसद श्री अब्दुल वहाब के 16.03.2018 के अतारांकित प्रश्न सं. 2536 के उत्तर में रेल राज्य मंत्री श्री राजेन गोहांई ने कहा कि दिनांक 01.01.2018 के अनुसार, क्षेत्रीय रेलों पर अराजपत्रित कर्मचारियों की रिक्तियों की कुल संख्या 2 2,44,793 है. अब सवाल है कि 22 लाख खाली पद है तो केवल 1.1 लाख भर्ती क्यों? क्या इससे रेल का काजकाज प्रभावित नहीं होता? अब ऐसे में 22 लाख के खाली पद पर मात्र 1 लाख 10 हजार नियुक्ति "ऊंट के मुंह में जीरा का फोरन" ही होगा.

    यह भी पढ़े-

    2 comments:

    अपना कमेंट लिखें

    loading...