• Breaking News

    दिल्ली में सेफ्टिक टैंक की सफाई के दौरान 3 सफाईकर्मियों हालत गंम्भीर 2 की मौत

     दिल्ली में सेफ्टिक टैंक की सफाई के दौरान 3 सफाईकर्मियों हालत गंम्भीर 2 की मौत

    दिल्ली में फिर से सरकार के दाबों की पोल खुलती दिख रही हैं. दिल्ली में 2 सफाईकर्मियों की मौत हुई हैं. रोहिणी प्रेमनगर में सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान पांच सफाईकर्मी जहरीली गैस की चपेट में आ गए. इनमें से दो की मौत हो गई और तीन गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती हैं.

    टाइम्स ऑफ़ इंडिया के खबर के अनुसार यह जिस जगह की घटना हैं, वहां के मालिक ने एक ठेकेदार के जरिये इन सफाईकर्मियों को सेप्टिक टैंक साफ करने के लिए बुलाया था. दोपहर तीन बजे के आसपास खबर आई कि उनमें से दो सफाईकर्मी टैंक में बेहोश हो गए हैं. उन्हें बचाने के लिए ठेकेदार ने उनके साथियों को बुलाया. उनमें से तीन और सफाईकर्मी बेहोश होकर गिर पड़े. उन्हें संजय गांधी अस्पताल ले जाया गया. लेकिन वहां तक पहुंचने से पहले ही गणेश साहा और दीपक नाम के दो सफाईकर्मियों ने दम तोड़ दिया.

    इस खबर के मुताबिक शुरुआती जांच में हमेशा की तरह यह बात सामने आई है कि सफाईकर्मियों को बिना सुरक्षा उपकरणों के टैंक में उतारा गया था. वहीं, हिंदुस्तान टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में दाबा किया है कि सफाईकर्मियों ने पहले टैंक की सफाई करने से इनकार कर दिया था. उनका कहना था कि वे इस काम के लिए प्रशिक्षित नहीं है. लेकिन ठेकेदार रामबीर और जगह के मालिक गुलाम मुस्तफा ने जबर्दस्ती उन्हें ऐसा करने पर मजबूर किया. जिसके बाद यह हादसा हुआ.
     

    यह घटना केजरीवाल साहब के उन दाबों की पोल खोल रही हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि "अब सफाई करने के दौरान सफाई कर्मियों की जान को खतरा नहीं रहेगा". अमर उजाला के खबर के अनुसार इसी साल मार्च में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सीवर और नालों की सफाई के लिए उपयुक्त मशीन कर्मियों को सौंपते हुए कहा कि अब उनकी जान को जोखिम में नहीं डालना होगा.

    इतना ही नहीं उन्होंने अंबेडकर स्टेडियम में अपने संबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि बाबा साहेब डॉ. भीम राव अंबेडकर का सपना साकार होने जा रहा है. आगे यह तक कहा कि आज का दिन देश के इतिहास में मील का पत्थर साबित होगा, जिसे सदियों तक याद किया जाएगा.
     

    मगर उसके ठीक एक महीने बाद ही इस तरह की घटना यह साबित करती हैं कि केजरीवाल सरकार के हाथी के तरह कहीं दो दांत तो नहीं, खाने के और और दिखाने के और..

    यह भी पढ़ें-

    No comments:

    Post a Comment

    अपना कमेंट लिखें

    Most Popular Posts

    loading...