CBI ने MCD अधिकारी को नौकरी के लिए रिश्वत लेते गिरफ्तार किया, यहाँ शिकायत करें

दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) अधिकारी को एक अस्थाई कर्मचारी से नौकरी के नाम पर रिश्वत माँगना मंहगा पड़ा। सोमवार को CBI ने MCD अधिकारी को नौकरी के लिए रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। MCD में कार्यरत सहायक स्वच्छता निरीक्षक, एमसीडी सिटी, S.P.Zone, पुराना रोहतक रोड, दिल्ली को एक अस्थाई कर्मचारी के साथ रिश्वत के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। सीबीआई ने बताया कि आरोपियों ने शिकायतकर्ता से नौकरी के नाम पर 4,000 रुपया एडवांस की मांग की थी।

CBI ने MCD अधिकारी रिश्वत लेते गिरफ्तार किया

एमसीडी के सहायता स्वच्छता निरीक्षक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। यह शिकायत एमसीडी में 1998 से काम करने वाले एक अस्थाई कर्मचारी ने दर्ज करवाया था। उसका आरोप था कि एमसीडी अधिकारी अस्थायी कर्मचारियों के एटीएम कार्ड लेते थे। जिसके बाद वो खुद ही पैसे निकाल कर कम पैसों का भुगतान करता था। शिकायतकर्ता का एटीमएम भी एमसीडी अधिकारी के पास था। जो कि वह उनको देना नहीं चाहता था।

आगे शिकायत में कहा कि वह पिछले छह महीने से न तो ड्यूटी के लिए तैनात था और उनको न ही कोई वेतन दिया गया। जिसके बाद एमसीडी का सहायक सेनेटरी इंस्पेक्टर ने ड्यूटी देने के लिए मौखिक रूप से 8,000 की रिश्वत की मांग की थी। जिसके बाद 4,000 रूपये की रिश्वत की पहली क़िस्त के लिए बातचीत की गई थी।

जिसके बाद सीबीआई ने जाल बिछाकर सहायक सेनेटरी इंस्पेक्टर और एमसीडी, दिल्ली के एक अस्थायी कर्मचारी को रिश्वत लेते रेंज हाथों गिरफ्तार किया। जिसके बाद आरोपियों के कार्यालय पर तलाशी के दौरान, कई हस्ताक्षरित दस्तावेज, जिनमें खाली हस्ताक्षरित चेक, एटीएम कार्ड आदि बरामद किए गए।

यही नहीं बल्कि इसके बाद गाजियाबाद में अन्य संदिग्ध (एक सेनेटरी इंस्पेक्टर) के आवास पर छापामारी की गई। जिससे उनके आवास पर 33 लाख (लगभग) और अन्य दस्तावेज बरामद किये गए है। इस अन्य सेनेटरी इंस्पेक्टर की भूमिका पर गौर किया जा रहा है। सीबीआई के द्वारा गिरफ्तार आरोपियों को सक्षम न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। जिसके बाद सहायक सेनेटरी इंस्पेक्टर को 2 दिन पुलिस कस्टडी और अन्य गिरफ्तार अस्थायी कर्मचारियों को न्यायिक हिरासत में भेजा दिया गया है।

बेरोजगारी के नाम पर युवाओं का जम कर शोषण

आज देश में बेकारी और बेरोजगारी के नाम पर युवाओं का जम कर शोषण किया जा रहा है। अगर आप भी कहीं ठेकदारी पर नौकरी करते हों तो हर साल ठेका रिन्यूअल के नाम पर 15 दिन से लेकर 3 महीने की सैलरी तक का मांग की जाती है। अगर दिल्ली की ही बात करें तो ज्यादातर जगहों पर ठेका कर्मचारी को न्यूनतम वेतन नहीं दिया जाता है। जिसमें ठेकदार के द्वारा सभी ठेका वर्कर का एटीएम अपने पास रख लेना आम बात है। जिससे उनके नाम पर न्यूनतम वेतन डालकर खुद से निकाल कर अवैध कटौती की जाती है।

CBI ने MCD अधिकारी को नौकरी के लिए रिश्वत लेते गिरफ्तार किया, यहाँ शिकायत करें

सीबीआई में कैसे शिकायत कर सकते हैं?

सर्वश्रेष्ठ हिंदी कहानियां, लेख और प्रेरणादायक विचार के लिए विजिट करें - HindiChowk.Com

अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा तो आप पूछेंगे कि क्या हम भी सीबीआई में शिकायत कर सकते हैं। सीबीआई में शिकायत कैसे करेंगे? देश के किसी भी कोने में केंद्र सरकार के लोक सेवकों के द्वारा भ्रष्टाचार हो रहा हो। एक व्यक्ति कहीं भी अपने निकटतम सीबीआई के भ्रष्टाचार विरोधी शाखा से संपर्क कर सकता है। इसके आलावा ड्रग और मानव तस्करी, नकली मुद्रा, वन्य जीवन के अवैध शिकार, ड्रग्स और खाद्य उत्पादों की मिलावट, अखिल भारतीय अंतर्राज्यीय अपराध आदि की भी शिकायत के लिए भी संपर्क किया जा सकता है। सीबीआई सहायता के लिए नीचे दिए लिंक को क्लीक करें।

CBI Complaint Click Here

यह भी पढ़ें-

Share this

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए (यहाँ Click) करें.

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

2 thoughts on “CBI ने MCD अधिकारी को नौकरी के लिए रिश्वत लेते गिरफ्तार किया, यहाँ शिकायत करें”

  1. Sir aapse, labaor low se juri kuch baat karni hai chuki mai Haryana ke rohtak , sampla jile mein hassanghar (indo aarya) namak jagah pe genius consultation limited (ITC) mein 3saal se kaam karta tha, lekin parso mujhe barboli maukhik taur penikal diya gaya aur bola gaya ki tum regin de do na na warning letter issue kiya gaya, aur na hi terminate latter diya gaya, sawal jawaab karne pe ye bola gaya ku tumhe blacklist kar diya jaayega, ab mai labaor court mein jane ku taiyaari kar raha hu, kirpa hame margdarsan kare, धन्यवाद.

    Reply
    • हमारे पास जो भी जाकारी हैं वह ब्लॉग पर उपलब्ध हैं. कृपया आप समय निकाल कर पढ़ें.

      Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!