सरकार के मजदूर विरोधी निति के खिलाफ व् समान वेतन की मांग के लिए प्रदर्शन

नई दिल्ली: दिनांक 30.05.2017 को सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन के आह्वान पर केन्द्र सरकार के मजदूर विरोधी कदमों के खिलाफ व् समान वेतन की मांग के लिए प्रदर्शन किया गया. यह प्रदर्शन देशभर में राज्य की राजधानी व जिला मुख्यालयों पर किया गया. इसी क्रम में दिल्ली में सीटू दिल्ली राज्य कमेटी के झंडे के नीचे मजदूरों केन्द्रीय श्रम मंत्री कार्यालय श्रमशक्ति भवन, रफी मार्ग, नई दिल्ली (पटेल चौक मेट्रो स्टेशन के पास) पर भी प्रदर्शन किया गया.

समान वेतन की मांग के लिए प्रदर्शन

दिल्ली के विभिन्न संस्थानों, कार्यालयां, कंपनियां के कार्यरत सैंकड़ो मजदूर वीपी हॉउस में एकत्र होकर केन्द्र सरकार को मजदूर विरोधी नीतियां के खिलाफ नारा लगाते हुए श्रम मंत्री कार्यालय श्रमशक्ति भवन पहुॅंचे. जहॉं पुलिस बल ने मजदूरों के जुलुस को आगे जाने से रोका. इसके बाद जुलुस सभा में तबदील हो गयी. सभा को एल.एल. मलकोटीया, कामरेड अनुराग सक्सेना लक्ष्मी नारायण, एचसी पंत, सकिल अहमद, पुष्पेंदर, सुरजीत श्यामल आदि नेताओं ने संबोधित किया. प्रदर्शन के दौरान पांच सदस्य प्रतिनिधिमंडल मुख्य श्रमायुक्त, (केन्द्रीय) से मुलाकात कर मांगों का ज्ञापन सौंपा. जिसमें समान वेतन की मांग प्रमुखता से उठाया गया था.

इसके उपरांत अपरान्ह 2ः30 बजे सीटू दिल्ली राज्य कमेटी के एक प्रतिनिधिमंडल ने अनुराग सक्सेना के नेतृत्व में भारत सरकार की श्रम सचिव एम. सत्यावती, श्रम शक्ति भवन में भेंट की तथा मजदूरों की मांगो के संबंध में ज्ञापन प्रदान किया.
labour secratory
labour secratory
जिसमें मजदूरों की मांगें हैं – न्यूनतम वेतन 18000 रूपया मासिक हो, समान काम का समान वेतन मिले, स्थाई काम में ठेकेदारी प्रथा खत्म हो, ठेका कर्मियों को उसी स्थान पर पक्का किया जाये, स्कीम वर्कर्स को पूर्ण कर्मचारी का दर्जा दिया जाए. सीटू के झंडे के नीचे मजदूर इएसआई(सी), प्रोविडेंट फंड व निर्माण मजदूर कल्याण कोष के स्थान पर सोशल सिक्योरिटी कोड के गठन, पब्लिक सेक्टर के विनिवेशीकरण तथा श्रम कानूनों में श्रमिक विरोधी बदलावां का विरोध कर रहे हैं.
सीटू के प्रतिनिधि मंडल ने भारत सरकार के श्रम सचिव एम. सत्यावती को ठेका श्रमिकों की समस्याओं के समाधान तथा उनकी मांगों को मनवाने के लिए प्रधानमंत्री के नाम मजदूरों द्वारा हस्ताक्षर हजारों पत्र भी भेंट किये तथा अनुरोध किया कि वे सीटू के झंडे के नीचे मजदूरों की भावनाओं को प्रधानमंत्री तक पहुॅंचा दें. प्रतिनिधिमंडल को मुख्य श्रमायुक्त (केन्द्र) एवं श्रम सचिव (भारत सरकार) ने आश्वासन दिया कि वे मजदूरों की भावनाओं को प्रधानमंत्री एवं केन्द्र सरकार के पास पहुॅचा देंगे.
इसी तरह के प्रदर्शन के कार्यक्रम गाजियाबाद व नोयडा में जिला मुख्यालय के समक्ष आयोजित किये गये.
नोयडा– जिलाधिकारी कार्यालय (सुरजपुर) के समक्ष प्रदर्शन किया. जिसमें सैंकड़ो मजदूरों ने भाग लिया. प्रदर्शनकारी मजदूरों को किसान नेता डी.पी. सिंह, रूपेश वर्मा, एस.आर. भाटी और सीटू जिला कमेटी के नेतागण गंगेश्वर दत्त शर्मा, भरत डेंजर, मदन प्रसाद आदि ने संबोधित किया. सीटू के प्रतिनिधी मंडल ने प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन जिला प्रशासन अधिकारियों को प्रदान किया.
गाजियाबाद– जिला मुख्यालय पर सीटू के नेतृत्व में प्रदर्शन व धरना का आयोजन किया तथा मांगो के संबंध में ज्ञापन केन्द्र व उत्तरप्रदेश सरकार के लिए सिटी मजिस्ट्रेट गाजियाबाद को प्रदान किया.
यह भी पढ़ें-
Share this

यदि आपके पास वर्कर से सम्बंधित हिंदी में कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे तुरंत ही email करें – [email protected]

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें .

Leave a Comment