RTI Application Hindi Format | सूचना का अधिकार आवेदन फार्म

हमारे मित्र रवि कुमार को पिछले साल RTI लगाकर आईआरसीटीसी से जानकारी लेनी थी. मगर हुआ यूं की इस संबंध में Google में सर्च किया। जिसमे कोई बेवसाइट मिली और उनसे एक आरटीआई (RTI) लगाने (RTI Application Hindi Format) का 500 रूपया ले लिया। इसके बाद भी उनको जानकारी नहीं मिल पाई। वही एक दूसरे मित्र युद्धवीर सिंह को भी RTI Application वकील से बनवाने के 300 रूपये देने पड़ें। आज हम आपको खुद से आरटीआई एप्लीकेशन बनाने सिखायेंगे। जिसको आप केवल RTI Fee- 10 रुपया और स्पीड पोस्ट के खर्च के साथ भेज सकते हैं।

RTI Application Hindi Format | सूचना का अधिकार आवेदन फार्म

हर व्यंक्ति के RTI  की जानकारी बहुत ही मह्त्वपूर्ण है। क्या पता कल बच्चे के एड्मिशन, रिजल्ट, बैंक, पुलिस, वाद-विवाद आदि किसी भी काम में जरुरत पड़ जाए। कम से कम इस काम के लिए आपको वकील के पास न जाना पड़े और न ही किसी अन्य के माध्यम से लगाकर 300-500 रुपया खर्च करना पड़े। आरटीआई के बारे में पुरे जानकारी के लिए आपने हमारा पहला आर्टिकल पढ़ लिया होगा।

सूचना का अधिकार क़ानून के तहत सूचना एकत्र करने के लिए प्रार्थना पत्र का नमूना कैसा होता है?

आप आरटीआई एक सिंपल RTI Application के माध्यम से लगाकर जानकारी/डॉक्यूमेंट मांग सकते हैं। जिसमें RTI Act 2005 के तहत जानकारी मांगने वाले का पूरा पता और जिससे जानकारी मांगी जा रही है। उसका भी पूरा पता लिखना जरुरी है। हम केवल आपको एक RTI Application का फॉर्मेट देने की कोशिश कर रहे हैं। जिसके माध्यम से आप खुद से एप्लीकेशन तैयार कर सकें। पोस्ट के अंत में RTI Form in Hindi pdf है। जिसको डाउनलोड करने के बाद सीधे भर कर भेज सकते हैं।

Sample of application to seek information under RTI Act 2005 in hindi | RTI file in hindi

सेवा में,                                                                                      Date ———-
सीपीआईओ/पीआईओ ( जनसूचना अधिकारी)
विभाग का नाम——————————-
विभाग का पता——————————-
पिन कोड————————————-
विषय: सूचना का अधिकार क़ानून -2005 के अंतर्गत सूचना प्राप्ति के लिए आवेदन
महोदय / महोदया,
             सूचना का अधिकार  क़ानून -2005 के अंतर्गत नीचे लिखे प्रश्नों का लिखित उतर देने की कृपा करें.
प्रश्न-1.—————————————————————
प्रश्न-2—————————————————————
प्रश्न-3—————————————————————
प्रश्न-4—————————————————————
प्रश्न-5—————————————————————
इत्यादि.
मेरे द्वारा मांगी गई जानकारी के लिए शुल्क के रूप में पोस्टल ऑर्डर/ बॅंक ड्राफ्ट का नंबर……….. जारी करने की तारीख………राशि………….संलग्न है।
OR
मैं ग़रीबी रेखा के अंतर्गत आता हूँ । इसलिए मुझे सूचना का अधिकार लेने के लिए कोई शुल्क नही देना है। इसके लिए अपने गरीबी रेखा का सत्यापित दस्तावेज़ साथ संलग्न कर रहा हूँ। (Note-दोनों में से जो लागू नहीं उसको न लिखें)
भवदीय:
————–
( हस्ताक्षर करें )
फिर अपना पूरा नाम और पता लिखें
————————————
Pin Code————————-
Mobile No ——————–

ऊपर RTI Application का पूरा फॉर्मेट हिंदी में उपलब्ध है। अब थोड़ा इस अप्लीकेशन को समझते हैं। इस RTI Application को लगाते समय निम्न बातों का ध्यान रखना होगा.

  • जिस विभाग में अप्लीकेशन लगाना है। उस विभाग के जनसूचना अधिकारी का नाम और पता की जानकारी ले लें। इसके लिए आप उस विभाग के वेबसाइट की मदद ले सकते हैं।
  • अपने अप्लीकेशन में ऊपर दिनांक डालना न भूलें।
  • ऊपर जहां प्रश्न संख्या लिखा है, वहां कृपया अपने प्रश्न या प्रश्नों को क्रमांक दे कर जवाब मांगे।
  • आपसे सूचना प्राप्ति के लिए दस रुपये फीस ली जाती है। आप अपने आवेदन के साथ 10 रुपये का पोस्टल ऑर्डर संलग्न कर सकते है। पोस्टल ऑर्डर का एक पन्ना अपने पास सुरक्षित रख लें और बड़ा हिस्सा इस प्रार्थना पत्र के साथ संलग्न कर लें। जानकारी के आलावा रिकॉर्ड मांगने पर इसके अतिरिक्त शुल्क दो रुपये प्रति A4 Size कागज का लिया जाएगा।
  • अगर आप गरीबी रेखा के अंतर्गत आते हैं तो RTI Act 2005 के अनुसार आपको आपको सूचना का अधिकार लेने के लिए कोई शुल्क नही देना है। इसके लिए आपको पूरा ब्यौरा दें और सत्यापित दस्तावेज़ संलग्न करें।
  • अपने RTI Application की कॉपी को संबंधित जनसूचना अधिकारी के पास स्पीड पोस्ट से ही भेजें और उनका रसीद संभाल कर रखें।

RTI Form in Hindi pdf

अपने आरटीआई एप्लीकेशन भेजने के बाद RTI Application का फोटो कॉपी और स्पीड पोस्ट/रजिस्टर्ड पोस्ट के रसीद को अपने पास सुरक्षित रखें। अगर आपको एक माह (30 days) के भीतर कोई जवाब नही मिलता तो आप सूचना अधिकारी की शिकायत सीधे सूचना आयुक्त से कर सकते हैं। हर राज्य में एक सूचना आयुक्त नियुक्त किये जाते हैं। ग़लत सूचना देने, देरी से देने और सूचना ना देने के दोषी सूचना अधिकारी के खिलाफ करवाई करने का प्रावधान है।
अगर उनका जवाब झूठा, असंतोषजनक या अधूरा हैं तो ऐसी स्थिति में आप सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005 के धारा 19(1) के तहत आप First Appeal Authority (प्रथम अपीलीय पदाधिकारी) के पास आवेदन कर सकते हैं।
Share this

सर्वश्रेष्ठ हिंदी कहानियों का संग्रह - हिंदी चौक डॉट कॉम

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए (यहाँ Click) करें.

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

1 thought on “RTI Application Hindi Format | सूचना का अधिकार आवेदन फार्म”

  1. सर सेकेंड अपील कैसे करते हैं आर टी आई मे

    Reply

Leave a Comment