Delhi Nursery Admission से जुड़ी पूरी जानकारी, टिप्पस और कैसे शिकायत करें

दिल्ली में नर्सरी एडमिशन (Delhi Nursery Admission) के लिए डायरेक्टर ऑफ एजुकेशन (डीओई) ने इस साल नर्सरी, केजी और क्लास वन में दाखिले लेने जा रहे बच्चों की 31 मार्च तक लोअर एज लिमिट तीन, चार और पांच साल तय की है. अभी राजधानी दिल्ली में नर्सरी में दाखिला अंतिम चरण में हैं.

Delhi Nursery Admission

हर पैरेंट्स का प्रयास होता है कि अपने बच्चे का अच्छे से अच्छे स्कुल में दाखिला हो. मगर हाड़तोड़ दौड़-भाग के बाद काम ही लोग को मनचाहा स्कुल में एडमिशन मिल पाता होगा. इसके बारे में कुछ बातों को ध्यान में रखकर बाद में होने वाली परेशानी से बचा जा सकता है.

दिल्ली में सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त पब्लिक स्कुल कौन-कौन से हैं?

Public Schools Recognised by DOE इससे आपको दिल्ली के प्रमुख मान्यता प्राप्त 1187 स्कूलों की जानकारी मिल जाएगी. ऐसे यह लिस्ट दिल्ली सरकार के बेवसाइट पर 23 March 2014 को उपडेट के अनुसार है. जानकारी के अनुसार बता दें कि 2018 में दिल्ली के 1700 से ज्यादा स्कूल को 1.25 लाख सीटों पर एडमिशन होने जा रहा है.

Nursery Admission के मुख्य टिप्पस

कभी भी एक ही स्कुल में एडमिशन फार्म न भरें. कोशिश करे कि अपने एरिया के हरेक स्कुल में एडमिशन के लिए अप्लाई करें. ऐसे भी ज्यादातर लोग अपने बच्चे के एडमिशन के लिए एक के जगह अनेको स्कूलों में एडमिशन फॉर्म भरते ही हैं. कुछ लोग तो बाकायदा ऑफिस से छुट्टी लेकर इसके लिए दिन-भर भागदौड़ करते हैं.

हर स्कुल अपने हिसाब और सुविधा के अनुसार फार्म भी भरवाता और एडमिशन लिस्ट भी जारी करता है. इसके बाद वो अपने-अपने तरीके से अपने इच्छा अनुसार एडमिशन का डेट भी अलाउंस करते हैं. अगर मान लीजिये कि आपने अपने घर के पास 4-5 स्कूलों में बच्चे के दाखिले के लिए अप्लाई किया है.

सर्वश्रेष्ठ हिंदी कहानियां, लेख और प्रेरणादायक विचार के लिए विजिट करें - HindiChowk.Com

मान लीजिये कि आपने A, B, C, D, E स्कुल में अप्लाई किया है. इसके लिए पुरे महीने आपने अच्छी खासी दौड़-धुप की है. इसके लिए सबसे पहले A स्कुल ने अपना एडमिशन लिस्ट निकाल दिया. जिसके फर्स्ट लिस्ट में आपके बच्चे का नाम आ गया. अब सबसे पहले तो आपके ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहता है. अगर मान लीजिये कि स्कूल A आपकी लास्ट प्राथमिकता थी.

आप कुछ दिन रुक कर बाकी स्कूलों का भी एडमिशन लिस्ट देखना चाहते हैं. मगर तब तक स्कुल A में एडमिशन का अंतिम डेट आ जाता है. इसके लिए आपको मन मसोस कर अपने बच्चे का एडमिशन A स्कुल में करवाना पड़ता है.

स्कुल में अपने बच्चे का सीट ब्लॉक कर लें

यह आपका बिलकुल सही स्टेप है. चाहे जिस स्कुल में भी आपके बच्चे का नाम लिस्ट में आये सबसे पहल उस स्कुल में अपने बच्चे का सीट ब्लॉक कर लें. उसके बाद अपने मनचाहे स्कुल के लिस्ट का इन्तजार करते रहें. अगर मान लीजिये कि आपका मनचाहा स्कुल D है और अगर स्कुल D के सेकंड लिस्ट में आपके बच्चे का नाम आ गया तो आप स्कुल बेहिचक स्कुल D में अपने बच्चे का एडमिशन करवाए. इसके बाद आप स्कुल A अपने बच्चे का एडमिशन निरस्त करवाकर अपने फ़ीस की मांग करें. फ़ीस वापसी के इस नियम को शिक्षा निर्देशालय ने सन 2016 में जारी किया था.

शिक्षा निर्देशालय को कैसे करें शिकायत?

इसके तहत दाखिला निरस्त करवाने पर स्कुल दाखिला फ़ीस, रजिस्ट्रेशन फ़ीस और एक महीने का टियूशन फ़ीस काटकर 15 दिन के अंदर वापस करेगा. इसके लिए लिखित में आवेदन दें और स्कुल से रिसीविंग अवश्य लें. अगर स्कुल रिसीविंग देने से मना करे तो एडमिशन निरस्त करने का लिखित आवेदन डाक (स्पीड पोस्ट/रजिस्ट्री) भेजें और उसका रसीद संभाल कर रखें.

अगर इसके बाद 15 दिनों के अंदर आपका फ़ीस वापस नहीं किया जाता है तो आप सीधा Secretory, शिक्षा निर्देशालय को इस आवेदन का फोटो कॉपी लगाकर लिखित शिकायत करें और हो सके तो उनका एक कॉपी शिक्षा मंत्री को भी भेजें. हम तो कहेंगे कि आप इस तरह की शिकायत के लिए स्पीड पोस्ट/रजिस्ट्री का यूज करें. ऐसे अभी Directorate of Education पर ऑनलाइन शिकायत कर सकते हैं.

दिल्ली में नर्सरी में दाखिला करवाने से पहले यह जानकारी जरुरी है.

ज्यादातर माता-पिता फर्स्ट टाइम एडमिशन के लिए अप्लाई करते हैं. जिसके कारण उनको एडमिशन रूल्स और क्राईटेरिया से जुड़ी सारी अहम् जानकारी पता नहीं होती है. जिसके कारण उनको परेशानी का सामना करना पड़ता है. इसके लिए बता दें कि नर्सरी एडमिशन के लिए सरकार द्वारा कुछ  क्राईटेरिया निर्धारित किये गया है. जिसके आधार पर ही स्कूलों को एडमिशन लेना होता है. इन्ही आधार पर स्कुल बच्चों को पॉइंट्स देते हैं और एडमिशन लिस्ट पब्लिश करते हैं.

नर्सरी प्रवेश मानदंड 2017-18

  • प्रवेश पंजीकरण शुल्क 25/- रुपया है और माता-पिता द्वारा प्रॉस्पेक्टस की खरीद वैकल्पिक है.
  • पॉइंट सीस्टम के माध्यम से नर्सरी प्रवेश होगा.
  • कुल 100 अंकों को कई मापदंडों में विभाजित किया गया है जो कि विभिन्न विद्यालयो में अलग-अलग हो सकता है.
  • उदहारण के लिए निम्नलिखित स्कूलों के एडमिशन क्रेटेरिया की पॉइंट्स की सूची है-

SPRINGDALES (PUSA ROAD):

  1. Neighbourhood: (10-40 pts)
  2. Siblings: 27
  3. Alumni: 25
  4. With own transport: 23
  5. Girl child: 10
TAGORE INTERNATIONAL (VASANT KUN):
  1. Resident of school transport areas: 50 pts
  2. Siblings: 30
  3. Eldest child: 20
  4. Second child: 10
  5. Third child: 5
  6. Alumni: 10
  7. Staff: 10
AMITY (PUSHP VIHAR):
  1. Neighborhood: 30 pts
  2. Siblings: 20
  3. Staff ward: 2
  4. Alumni-any parent, from sister institution: 30
  • 25% – ईडब्ल्यूएस (आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग और वंचित समूह) – जिनकी वार्षिक घरेलू आय 1 लाख या 25% से कम है या विकलांग / आर्थोपेडिक विकलांग हैं.
  • 20 प्रतिशत प्रबंधन कोटा को आवंटित किया गया है.
  • स्कूल में काम कर रहे कर्मचारियों के बच्चों के लिए 5 प्रतिशत सीट आवंटित है.
  • माता-पिता एडमिशन से सम्बंधित कोई भी शिकायत DOE ऑफिसियल पर कर सकते हैं. http://www.edudel.nic.in

Nursery Admission 2018 से सम्बंधित महत्वपूर्ण तिथियां 

  • स्कुल प्रत्येक आवेदक को दिए गए अंकों के ब्योरे सूची में अपलोड करने की तिथि: 2 फरवरी, 2018
  • चयनित उम्मीदवारों की पहली सूची: 15 फरवरी, 2018
  • चयनित उम्मीदवारों की दूसरी सूची: 28 फरवरी, 2018
  • सबसेकेंट एडमिशन  लिस्ट्स: March 15, 2018
  • प्रवेश प्रक्रिया बंद: 31 मार्च 2018
उम्मीद है यह लेख आपको पसंद ही नहीं आएगा बल्कि इसका लाभ भी उठा पायेंगे. अगर इसके बारे में कुछ भी पूछना हो तो कमेंट बॉक्स में अवश्य लिखें.

यह भी पढ़ें –

Share this

पढ़ें WorkerVoice.in ब्लॉग और देखें WorkerVoice.in वीडियो यूट्यूब चैनल पर. जानिए मजदूरों एवं कर्मचारियों से सम्बंधित एम्प्लाइज न्यूज, पीएफ, ईएसआईसी, लेबर लॉ न्यूनतम मजदूरी की लेटेस्ट जानकारी News in Hindi. हमें Facebook, Twitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

Leave a Comment

error: Content is protected !!