सुप्रीम कोर्ट में Minimum Wage in Delhi 12 April की सुनाई टली, अब क्या होगा

दिल्ली के मजदूरों के न्यूनतम वेतन का मैटर सुप्रीम कोर्ट में पेंडिंग हैं. जिसकी सुनवाई 12 अप्रैल 2019 को होनी तय थी. मगर सुप्रीम कोर्ट में Minimum Wage in Delhi 12 April की सुनाई टल गई हैं तो आपका सवाल होगा कि अब क्या होगा. आज इसी के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश कर रहें हैं.

Minimum Wage in Delhi Latest News | न्यूनतम वेतन दिल्ली का लेटेस्ट न्यूज

आज से दो दिन पहले ही दिल्ली के मजदूरों के मंहगाई भत्ता के वृद्धि के बारे में एक पोस्ट उपडेट किया था. जिसमें हमने बताया था कि इस बारे में दिल्ली लेबर कमिश्नर साहब ने क्या कहा हैं. कमिशनर साहब ने कहा कि मंहगाई भत्ते के नोटिफिकेशन सुप्रीम कोर्ट के सुनवाई को बाद होगी. इसी के बारे में हमने बताया था कि अगली सुनवाई 12 अप्रैल को बताई थी. जो कि पहले से निर्धारित थी.

अगली सुनवाई?

मगर जैसे ही इस पोस्ट को पब्लिश किया, वैसे ही आपमें से ही एक साथी ने बताया की सुनवाई अब मई महीने में होगी. जिसके बाद हमने जब सुप्रीम कोर्ट का वेवसाइट चेक किया तो पाया कि सचमुच में अगली सुनवाई अब 03 मई 2019 को बताया जा रहा है.

जिसके बारे में हमने आपको यूट्यूब चैनल वर्कर वॉयस डॉट इन  पर पोस्ट करके बताया था. मगर इसके साथ यह भी कहा कि आखिर यह डेट आगे बढ़ने का कारण क्या हैं?  इसकी जानकारी पता कर रहा हूँ. मगर जिसके बाद आपलोगों के मैसेज का बाढ़ सा आ गया. जिसके बाद हमें यह पोस्ट लिखना पड़ रहा हैं.

सुप्रीम कोर्ट में केस की जानकारी के लिए हमने दिल्ली न्यूनतम वेतन सलाहकार समिति के मेंबर श्री वी.के.एस गौतम को 12 अप्रैल को शाम में फोन किया. उन्होंने बताया कि अभी चुनाव में व्यस्त हूँ जिसके कारण इसकी जानकारी नहीं हैं, मगर उन्होंने वादा किया कि वो इसके बारे में पता कर बतायेंगे. जिसके बाद कल शनिवार यानी 13 अप्रैल की सुवह दस बजे दुबारा फोन किया.

उन्होंने कहा कि शनिवार होने से अभी सही से बात नहीं हो पाई हैं. मगर उन्होंने भरोसा दिलाया कि सोमवार तक पूरी जानकारी देंगे. आपकी जानकारी के लिए बता दूँ कि शनिवार और रविवार को अधिकतर कार्यालय बंद रहते हैं.

खैर, इसके बारे में तो देर सवेर जानकारी मिल ही जायेगी. मगर हमारा मुख्य रूप से प्रयास यह है कि एक तो जल्दी से सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हो और दूसरा नियम के मुताबिक सरकार बिना देरी किये मंहगाई भत्ते का नोटिफिकेशन जारी करे.

मंहगाई भत्ते के नोटिफिकेशन?

ऐसे जानकारी के लिए बता दूँ कि भले ही लेबर कमिश्नर साहेब ने सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के बाद मंहगाई भत्ते के नोटिफिकेशन जारी करने की बात की हो, मगर इसके लिए कोर्ट का कोई रोक नहीं हैं. हमने इसके लिए एक आरटीआई लगाकर दिल्ली के लेबर कमिश्नर से पूछने की कोशिश की, मगर दिल्ली सरकार द्वारा आरटीआई के लिए वेबसाइट में कुछ प्रॉब्लम आ रहा है. इसके लिए भी हमने ईमेल कर दिया हैं.
हमारी कोशिश होगी कि किसी तरह सोमवार तक हमारा आरटीआई लग जाए. भाई, ऐसे फोन करके भी पूछ सकते हैं, मगर हमें नहीं लगता कि फोन पर वो इसका जवाब दे पायेंगे.

आरटीआई लगाकर केस का एसएलपी नंबर मांगा?

इससे पहले भी, आपको याद होगा कि जब हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार का नोटिफिकेशन रद्द कर दिया तो दिल्ली सरकार सुप्रीम कोर्ट में केस फाइल किया था. मगर बहुत काम लोगों को पता होगा कि उसके बाद दिल्ली सरकार का श्रम विभाग सो गया था.
जिसके बाद हमने 09 अक्टूबर 2019 को आरटीआई लगाकर केस का एसएलपी नंबर मांगा. जबकि उस समय तक केवल केस फ़ाइल हुआ था, मतलब एसएलपी नंबर तक पहुंचा ही नहीं था. जब हम केस लगाते हैं तो पहले डायरी नंबर मिलता हैं, फिर जब रजिस्ट्रार महोदय के द्वारा लगायें सारे ऑब्जेक्शन पार्टी रिमूव कर देती तो केस लिस्ट में आता है और फाइनली एसएलपी नंबर जेनरेट होता हैं.
खैर, दबा हुआ फाइल ऊपर आया और आनन्फा-नन में कारवाई तेज हुई. जिसके मात्र 12 दिन में ही आरटीआई के जवाब में श्रम विभाग द्वारा एक पेपर अपलोड कर दिया गया. जिसमें न तो भेजने वाले का नाम था और नहीं ही हमारे सवाल का जवाब. मगर इससे यह हुआ कि 22 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट में केस लिस्टेड हो गया और 31 अक्टूबर 2018 को माननीय कोर्ट ने मजदूरों के हीत में फैसला देता हुए, फिर से दिल्ली में न्यूनतम वेतन बहाल किया. जिसको दिल्ली सरकार ने 05.08.2018 को हाईकोर्ट के फैसले का हवाला देते हुए रद्द कर दिया था.

सुप्रीम कोर्ट में Minimum Wage in Delhi 12 April की सुनाई टली, अब क्या होगा?

आपलोग यह जरूर सोच रहें होंगे कि देश की राजधानी दिल्ली में लाखों मजदूरों के हितों से जुड़ा मुद्दा आखिर मिडिया में क्यों नहीं बताया जाता हैं. इसका सीधा सा जवाब हैं कि आपकी लड़ाई किस से हैं और मिडिया किसकी हैं? खैर, हम आपको हरेक जानकारी देंगे. वर्कर वॉयस का मतलब ही हैं हम वर्कर की आवाज, जिसको हर तरीके से हर प्लेटफॉर्म पर उठायेंगे. आप भी अपने सुझाव नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर बता सकते हैं. इसको अपने हर साथी तक पहुचायें.
यह भी पढ़ें-
Share this

यदि आपके पास वर्कर से सम्बंधित हिंदी में कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे तुरंत ही email करें – [email protected]

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें .

7 thoughts on “सुप्रीम कोर्ट में Minimum Wage in Delhi 12 April की सुनाई टली, अब क्या होगा”

  1. Excellent blog here! Also your web site loads up very fast!
    What host are you using? Can I get your affiliate
    link to your host? I wish my web site loaded
    up as quickly as yours lol

    Reply
  2. jee. eske bare me padhiye – workervoice.in/2019/05/supreme-court-order-delhi-minimum-wages-.html

    Reply
  3. It's not my first time to go to see this web site, i
    am visiting this web page dailly and get fastidious information from here everyday.

    Reply
  4. Hey there just wanted to give you a quick heads up and let you know a few of the images
    aren't loading properly. I'm not sure why
    but I think its a linking issue. I've tried it in two
    different internet browsers and both show the same results.

    Reply
  5. I savor, lead to I discovered exactly what
    I used to be taking a look for. You have ended my 4 day long hunt!
    God Bless you man. Have a great day. Bye

    Reply

Leave a Comment