PF खाता पर कब मिलेगा ब्याज 2018-19, खाताधारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी

आप सभी को पता होगा कि इस बार अभी तक आपके पीएफ खाते में ब्याज नहीं लगाया गया हैं. जिसके कारण आप परेशान थे. हर रोज आपके मैसेज आ रहे थे कि PF खाता पर कब मिलेगा ब्याज 2018-19. आज आपके इस परेशानी का समाधान मिल गया हैं.

इसका मुख्य वजह यह था कि अभी तक पीएफ की ब्याज दरों को लेकर लंबे समय से वित्त मंत्रालय और श्रम मंत्रालय में सहमति नहीं बन पा रही थी. जिसके कारण देरी हुई हैं. हिन्दू बिज़नेस लाइन की खबर के मुताबिक़ भविष्य निधि खाते (PF Account) पर केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार (Labour Minister Santosh Gangwar) ने ज्यादा ब्याज दर के जल्द नोटिफिकेशन की घोषणा कर दी हैं.

PF खाता पर कब मिलेगा ब्याज 2018-19

हिंदी न्यूज पोर्टल न्यूज 18 ने अपने खबर में बताया हैं कि नौकरीपेशा के लिए बड़ी खुशखबरी आई है. भविष्य निधि खाते (PF Account) पर ज्यादा ब्याज मिलने का रास्ता साफ हो गया है. केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार (Labour Minister Santosh Gangwar) के मुताबिक, वित्त वर्ष 2018-19 के लिए पीएफ (EPF) पर 8.65 फीसदी ब्याज मिलेगा. इसको लेकर वित्त मंत्रालय तैयार हो गया है. 
 
अगर हम इस ब्याज दर को देखें तो इससे पहले वित्त वर्ष यानी 2017-18 में ब्याज दरें 8.55 फीसदी के तुलना में 0.10 फीसदी वृद्धि होगी. इसके बारे में बताया गया है कि इससे सीधा 6 करोड़ खाताधारकों को फायदा मिलेगा. 

अगर हम लाइव मिंट की पुरानी खबर को पढ़ते हैं तो पता चलता हैं कि माननीय केंद्रीय मंत्री महोदय ने फरवरी 2019 में भी सीबीटी (ईपीएफओ) की मीटिंग में यही घोषणा की थी. माननीय मंत्री महोदय ने कहा था कि “हम श्रमिक वर्ग के लिए काम कर रहे हैं और यह ब्याज दर में वृद्धि दर्शाता है कि हम उन पर विश्वास करते हैं,”

अब आपका सवाल होगा कि वित्त मंत्रालय के नोटिफिकेशन से क्या होगा? न्यूज सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पीएफ की ब्याज दरों को लेकर लंबे समय से वित्त मंत्रालय और श्रम मंत्रालय में सहमति नहीं बन पा रही थी. अभी फिक्की के कार्यक्रम में न्यूज एजेंसी पीटीआई के रिपोर्टर को  केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने बताया है कि 8.65 फीसदी की दर से पीएफ खाताधारकों को ब्याज मिलेगा. इसको लेकर जल्द नोटिफिकेशन जारी होगा.

PF खाता पर कब मिलेगा ब्याज 2018-19, खाताधारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी

 

आइये इसी बीच हम पिछले कुछ साल के वार्षिक पीएफ ब्याज दर पर नजर डालते हैं. –
Year
Intrest Rate
1989 – 2000
12.00%
2000 – 2001
12%
2001 – 2004
9.50%
2004 – 2005
9.50%
2005 – 2010
8.50%
2010 – 2011
9.50%
2011 – 2012
8.25%
2012 – 2013
8.50%
2013 – 2015
8.75%
2015 – 2016
8.80%
2016 – 2017
8.65%
2017 – 2018
8.55%
2018 – 2019
8.65%
अगर इस डाटा में हम चार्ट में कन्वर्ट कर देखें तो हमें समझने में काफी आसानी होगी. इससे आप खुद एनालिसिस कर सकते हैं कि वर्तमान समय में मिलने वाला ब्याज दर वृद्धि हैं या नुकसान.

सर्वश्रेष्ठ हिंदी कहानियां, लेख और प्रेरणादायक विचार के लिए विजिट करें - HindiChowk.Com

खैर, उम्मीद करेंगे कि जल्द से जल्द नोटिफिकेशन निकले और सभी लोगो को मंत्री महोदय द्वारा घोषित ब्याज दर का लाभ मिले.यह भी पढ़ें-

Share this

पढ़ें WorkerVoice.in ब्लॉग और देखें WorkerVoice.in वीडियो यूट्यूब चैनल पर. जानिए मजदूरों एवं कर्मचारियों से सम्बंधित एम्प्लाइज न्यूज, पीएफ, ईएसआईसी, लेबर लॉ न्यूनतम मजदूरी की लेटेस्ट जानकारी News in Hindi. हमें Facebook, Twitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

1 thought on “PF खाता पर कब मिलेगा ब्याज 2018-19, खाताधारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी”

  1. Dear sir,

    I have been working in pvt ltd company since 5 years. As per the terms and condition under offer letter it has a clause that they can transfer to any of the units as per business needs.

    Sir, in past four years they have transfered me four location Karnataka, punjab, m. P, jaharkhand and now andhrapradesh. They are using this clause as harrasing me and disturbing me. My top management wants that I should leave my job. So they r using this clause as a tool to harass me. My industry sector is hospitality.

    Even I have requested several time to hr head that transfer me near to my home(patna) but they always deny stating business's needs.

    Can I lodge case against them under article 21 right to life and livelihood. Discriminating me and leaving me isolated from my family from frequent transfers. Should I approach state human right commission. Please suggest me what should I do.

    #7347441920

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!