क्या कोरोना वैक्सीन लेना नौकरी बचाने के लिए जरूरी, सरकार ने RTI में क्या कहा?

अगर आप किसी भी सरकारी, गैर-सरकारी कंपनी संस्थान आदि में काम करते हैं. ऐसे में सरकार के तरफ से Covid Vaccine देने का काम जोरों पर है. आपको हर विभाग में हर उम्र हर वर्ग के लोगों को कोरोना वैक्सीन लेना सुनिश्चित किया जा रहा है. ऐसे तो इस वैक्सीन के प्रति लोगों को तमाम आशंका है तो उधर सोशल मिडिया में कई विभाग में वैक्सीन नहीं लेने वाले को नौकरी से निकालने व् सभी सरकारी स्किम से वंचित करने का दावा किया जा रहा है. एक RTI में पूछा गया कि “क्या कोरोना वैक्सीन लेना नौकरी बचाने के लिए जरूरी“? जिसका भारत सरकार के तरफ से क्या जवाब दिया गया. आइये RTI pdf सबूत के साथ जानते है.

क्या कोरोना वैक्सीन लेना नौकरी बचाने के लिए जरूरी?

इंडिया टीवी न्यूज के अनुसार दिल्ली पुलिस के जनरल डायरी में कहा गया था कि जो पुलिसकर्मी कोरोना वैक्सीन नही लगवायेगा. उसके वेतन वृद्धि में कटौती की जायेगी. जबकि बाद में जिस पुलिसकर्मी ने जेनरल डायरी में एंट्री की थी. उसके खिलाफ डिपार्टमेंट इंक्वायरी की जा रही है. अब नई एंट्री करके कहा गया है कि कोविड वैक्सीन के लिए प्रेरित करने के लिए कहा गया था, इंक्रीमेंट नही काटा जाएगा. यह नाममात्र का उदाहरण कोरोना वैक्सीन को लेकर कर्मचारियों प्रति प्रबंधन का रवैया समझने के लिए है.

कोरोना वैक्सीन लेना स्वैक्षिक है या अनिवार्य, जबरदस्ती – RTI

झारखंड निवासी श्री अनुराग सिन्हा आरटीआई एक्टिविस्ट ने भारत सरकार के परिवार एवं कल्याण मंत्रालय से कोरोना वैक्सीन के बारे में आरटीआई लगाकर पूछा. अपने आरटीआई में उन्होंने 6 सवाल पूछें हैं. जो कि निम्न प्रकार से है –

  1. कोरोना वैक्सीन लेना स्वैक्षिक है या अनिवार्य, जबरदस्ती
  2. क्या वैक्सीन नहीं लेने पर सारी सरकारी सुविधायें बंद कर दी जायेगी सरकारी योजना पेंशन
  3. यदि कोई ias ips स्वास्थ्य या पुलिस कर्मचारी नागरिक को धमकी दे की वैक्सीन ले नहीं तो ये कर देंगे तो नागरिक क्या कर सकती क्या कोर्ट जा सकते हैं
  4. क्या वैक्सीन नहीं लेने पर स्कूलों, कॉलेजों, विश्वविधालय पर गैस कनेक्शन, पानी, बिजली बिजली कनेक्शन, राशन आदि के लिए क्या वैक्सीन नहीं मिलेगे
  5. क्या वैक्सीन नहीं लेने पर नौकरी से निकाला जा सकता हैं
  6. वेतन रोका जा सकता हैं निजी और सरकारी विभाग दोनों में !

आरटीआई में पूछे सवालों का जवाब में श्री स्वरूप सिंह, अवर सचिव और सीपीआईओ, भारत सरकार, दूरभाष नंबर 011-23062959 ने पत्र संख्या जेड 60011/06/2020-सीवीएसी दिनांक 09.03.2021 ने दिया है. जिसका pdf कॉपी हमें एक साथी ने व्हाट्सप्प के माध्यम से भेजा है.

सरकारी सुविधा, नागरिकता, नौकरी इत्यादि से वैक्सीन का

भारत सरकार के परिवार एवं कल्याण मंत्रालय के CPIO ने RTI के पहले सवाल के जवाब में लिखा है कि “कोरोना वैक्सीन लेना स्वैक्षिक है“. इसके बाद बांकी सवालों के जवाब में कहा कि “आवेदन में लिखी बातें निराधार है किसी भी सरकारी सुविधा, नागरिकता, नौकरी इत्यादि से वैक्सीन का कोई संबंध नहीं है”. जिस RTI जवाब का पीडीएफ कॉपी पोस्ट के अंत में उपलब्ध करवाया जा रहा है.

अगर आप या आपके किसी साथी, सगे-संबंधियों में से किसी को कोरोना वैक्सीन नहीं लेने के कारण नौकरी से निकाल दिया गया हो. उनकी सैलरी रोक दी गई हो या किसी सरकारी सुविधा से वंचित कर दिया गया हो. ऐसे में आपके या आपके उस साथी के लिए भारत सरकार के परिवार एवं कल्याण मंत्रालय का आरटीआई रिप्लाई काम आएगा.

RTI Reply pdf

यह भी पढ़ें-

Share this

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email करें – [email protected]

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

Leave a Comment