जेपी होटल के कर्मचारी पिछले 12 दिन से सड़क पर बैठने को मजबूर हुए, जाने क्यों?

नई दिल्ली: देश के नामी-गिरामी पांच सितारा जेपी होटल के कर्मचारी पिछले 12 दिन से सड़क पर बैठे हुए हैं। जिससे केजरवाल सरकार की कर्मचारियों के लिए दावे की पोल खुल गई है। यही नही बल्कि अभी तक सरकार से मांग पर होटल कमचारियों के मामले में कोई सुध तक नहीं ली गई है। जिससे आहात होकर जेपी सिद्धार्थ होटल के कर्मचारी भूख हड़ताल पर बैठने पर मजबूर हुए हैं। आइये हम जानते हैं कि आखिर कर्मचारियों की मांगे क्या-क्या है?

जेपी होटल के कर्मचारी पिछले 12 दिन से सड़क पर बैठने को मजबूर

देश की राजधानी दिल्ली के वसंत विहार में पिछले 12 दिन से होटल कर्मचारी धरने पर बैठे हैं। सभी कर्मचारीगण ‘होटल वर्कर्स यूनियन’ के बैनर तले रिले भूख हड़ताल कर विरोध जता रहे हैं। यूनियन के महासचिव श्री मुरारी लाल शर्मा ने बताया कि कर्मचारियों का लॉकडाउन के समय सैलरी से कटौती के बकाये राशि व् दिल्ली सरकार द्वारा घोषित मंहगाई भत्ते की मांग कर रहे हैं।

दिल्ली सरकार ने देर-सवेर अप्रैल, अक्टूबर – 2020 और अप्रैल, अक्टूबर – 2021 का मंहगाई भत्ता का नोटिफिकेशन जारी किया था मगर होटल प्रबंधकों द्वारा के द्वारा कर्मचारियों को मंहगाई भत्ते का भुगतान नहीं किया गया है। जिसके लिए हमने केजरीवाल सरकार से भी गुहार लगाईं है मगर कोई सुनवाई नहीं होने पर सड़क पर बैठने को मजबूर हुए हैं।

लॉकडाउन के समय किसी भी कर्मचारी के सैलरी से कटौती

जब पुरे देश में लॉकडाउन लगाया गया था तब स्कुल कॉलेज के साथ होटल भी बंद कर दिए गए था। माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार लॉकडाउन के समय किसी भी कर्मचारी के सैलरी से कटौती बिना उनके मर्जी के नहीं करनी थी। जबकि श्री वीरेंद्र चौहान कर्मचारी का आरोप है कि उनलोगों को लॉकडाउन के समय 35,000 की जगह मात्र 8,000 रुपया महीने सैलरी का भुगतान किया गया। जबकि ये लोग परमानेंट कर्मचारी है और पिछले 25 से 30 साल से होटल के लिए काम करते आ रहे हैं।

Dearness Allowance news today in hindi

सर्वश्रेष्ठ हिंदी कहानियां, लेख और प्रेरणादायक विचार के लिए विजिट करें - HindiChowk.Com

अब जब स्थिति में सुधार हो गई तब सैलरी तो दी जाने लगी मगर काम का प्रेसर बढ़ा दिया है। यही नहीं बल्कि हमारे पिछले कटौती का पैसा और 2 साल का मंहगाई भत्ते का भुगतान नहीं किया जा रहा है। जबकि हम बढ़ती मंहगाई से परेशान हैं और हमारा केजरीवाल सरकार भी कोई सुध ले रही।

जेपी होटल के कर्मचारी पिछले 12 दिन से सड़क पर बैठने को मजबूर हुए, जाने क्यों?

Delhi employees latest news today

राम सिंह ओसवाल यूनियन अध्यक्ष ने बताया कि हमारे धरना में रोज एक कर्मचारी दिन भर भूख हड़ताल पर बैठता है। जिनके समर्थन में होटल के सभी कर्मचारी अपना ड्यूटी पूरा होने के बाद आते हैं। जिससे होटल का बिना नुकसान किये पिछले 12 दिन से हमारा विरोध प्रदर्शन भी जारी है। हम सभी लोग अपने होटल की नौकरी पर ही निर्भर हैं ऐसे में हमारी मांग होटल प्रबंधको से है तो हम होटल का नुकसान करवा कर मांग नहीं मनवा सकते।

केजरीवाल सरकार से जेपी होटल कर्मचारी गुहार लगा रहें

दिल्ली होटल कर्मचारियों के धरना प्रदर्शन में राम गोपाल, भूपेंद्र सिंह, जनक सिंह, कैलाश चन्द्र, सुरेश गुलेरिया, नंद किशोर, कुलवंत सिंह आदि उपस्थित थे। केजरीवाल सरकार से जेपी होटल कर्मचारी गुहार लगा रहें कि उनके साथ न्याय किया जाए।अब देखना है कि केजरीवाल सरकार कब सुध लेती है।

यह भी पढ़ें-

Share this

हमारे लेटेस्ट उपडेट तुरंत पाने के लिए टेलीग्राम चैनल पर जुड़ें Join Telegram

Leave a Comment

error: Content is protected !!