प्राइवेट नौकरी करने वाले लोगों को ध्यान रखने वाली 9 महत्वपूर्ण बातें, जानिए?

अगर आप प्राइवेट नौकरी करते हैं और ऐसे में कुछ गलती लोग जाने-अंजाने में कर बैठते हैं। जिसके लिए आपको बाद में पछताना पड़ता है। अगर इन बातों की जानकारी पहले से आपको हो तो आप इनसे बच सकते हैं। हम प्राइवेट नौकरी करने वाले लोगों को ध्यान रखने वाली 9 महत्वपूर्ण बातों को बताने जा रहे हैं।

प्राइवेट नौकरी करने वाले लोगों को ध्यान रखने वाली 9 महत्वपूर्ण बातें

प्राइवेट नौकरी करने वाले लोगों को 9 बातों का गांठ बांध कर रख लेना चाहिए। कुछ बातें ऐसी हो जो आपको पहले से पता होनी चाहिए। जिनको अगर आप नहीं जानते हैं या यूँ कह लीजिये आपको पता नहीं है तो ऐसे में जाने अंजाने में आप गलतियां कर बैठते हैं। जिससे आपको बाद में पछताना पड़ता है। हम जिनके बारे में आइए विस्तार से जानते हैं-

1. बिना Appointment Letter के नौकरी ज्वाइन कर लेना-

अगर आप कहीं प्राइवेट नौकरी ज्वाइन करने जाते हैं। ऐसे में आपको कंपनी के द्वारा Appointment Letter  दिया जाता है। जिसमें आपको किस काम के लिए रखा गया है? आपकी सैलरी कितनी होगी? नौकरी छोड़ते समय कितने दिन का नोटिस देना होगा? आपको सेवा शर्त क्या है, आदि सभी बातें लिखी होती है।

अगर आपको कंपनी ने Appointment Letter नहीं दिया तो आपको मांग करनी चाहिए। अगर आप बिना Appointment Letter के नौकरी करने जायेंगे तो कल को एक या दो महीना काम करवाकर वो कह सकते कि हमारे यहां तुमने काम ही नहीं किया। ऐसी में आपको अपना मेहनताना निकालने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

सर्वश्रेष्ठ हिंदी कहानियां, लेख और प्रेरणादायक विचार के लिए विजिट करें - HindiChowk.Com

2. नौकरी ज्वाइन करते समय Original Certificate मालिक/एम्प्लायर को दे देना-

आज जब भी कोई प्राइवेट/सरकारी नौकरी के लिए Apply करते हैं। ऐसे में अलग-अलग पद के लिए शैक्षणिक योग्यता की मांग की जाती है। जिसके बाद आपके चयन के लिए आपको Original Certificate डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए लाने को बोला जाता है। आपने जो शैक्षणिक योग्यता का Certificate का फोटो कॉपी दिया है। उसका मिलान आपके Original Certificate तुरंत वापस कर दिया जाता है।

अगर ऐसे में आप नौकरी ज्वाइन करते समय Original Certificate मालिक/एम्प्लायर के पास जमा कर दिया है तो आपको वो बाद में वापस करने में आनाकानी कर सकते हैं।

3. मालिक के कहने पर सादे कागज में हस्ताक्षर करके दे देना-

आजकल प्राइवेट नौकरी ज्वाइन कराते समय कम्पनी प्रबंधक/मालिक सादे कागज पर साइन मांगने लगे हैं। लोग बेरोजगारी के डर और नौकरी पाने की लालसा में गैर-क़ानूनी मांग को भी मान ले रहे हैं। जिसके बाद उनको उस सादे कागज पर साइन का डर दिखकर शोषण करते हैं।

यही नहीं कई मामलों में तो उस कागज पर लोन आदि की बात खुद से लिख लेते हैं जिस पर आपका साइन तो किया हुआ है ही। जिसके बाद वो आप मजदूरों का और भी शोषण करने लगते हैं। इसलिए इस तरह के किसी भी सादे पेपर साइन करने से बचें।

4. अगर 30 दिन पूरा होने पर सैलरी न मिले तो लिखित में मांग न करना-

अगर आप कहीं भी जॉब करते हैं। ऐसे में आपको 30 दिन बीतने के बाद सैलरी मिल जानी चाहिए। यही नहीं बल्कि हर हाल में आपको महीना ख़त्म होने के बाद 7 से 10 तारीख से पहले वेतन देने का प्रावधान होता है। ऐसे में अगर आपको मालिक/कंपनी सैलरी समय पर नहीं दे, तो आपको लिखित में अपनी सैलरी का मांग करनी चाहिए। इसके लिए हम ईमेल/ स्पीड पोस्ट द्वारा पत्र का उपयोग कर सकते हैं। जो कि हमारे पास प्रूफ के रूप में रहते हैं कि आपका सैलरी मालिक के पास बकाया है।

अगर आप लिखित में नहीं मांगते तो कल वो मुकर सकते हैं और ज्यादा दिन होने पर अक्सर सैलरी देने में आनाकानी करने लगते हैं।

Read Also – 

5. अपने काम से संबंधित रिकॉर्ड संभाल कर नहीं रखना-

आप जिस प्रकार अपने पढ़ने के दौरान अपने मार्क-सीट, सेर्टिफिकेट आदि संभाल कर रखते हैं। उसी प्रकार आपको अपने नौकरी से जुड़े, कागजात, Experience Letter, वार्निंग लेटर, सो-कॉज लेटर, टर्मिनेशन लेटर, सैलरी स्लिप, आदि को एक फाइल बनाकर संभाल कर रखनी चाहिए। यह आपको किसी न किसी दिन काम आएगा।

6. अपनी सैलरी बैंक खाते में नहीं लेना-

अगर आप अपनी सैलरी बैंक खाते में लेते हैं। ऐसे में अगर आपको Appointment Letter नहीं भी है तो आपके लिए साबित करना आसान होता है कि आपने फलाना कंपनी/मालिक के पास काम किया है। इसलिए हमेंशा कोशिश करें कि आपका एम्प्लायर आपके बैंक खाते में या चेक की सहायता से सैलरी का भुगतान करें।

7. छुट्टी लेते समय लिखित अप्रूवल का प्रूफ नहीं रखना-

अगर आप कभी भी नौकरी से छुट्टी लेते हैं। ऐसे में आपको छुट्टी का आवदेन देना का प्रावधान होता है। अगर आप मौखिक छुट्टी लेते हैं तो सावधान हो जाए। ऐसे में जब आप वापस आते हैं तो आपको पता चलता है कि आपकी जगह किसी और Employee को काम पर रख लिया।

ऐसे आप इसके लिए लेबर कोर्ट जा सकते हैं मगर आप पहले सावधानी बरतते तो यह दिन नहीं देखना पड़ता। आप इसके लिए हमेशा छुट्टी लेते समय एप्लीकेशन ईमेल के माध्य से देने का आदत बना लें। जो कि आपके पास प्रूफ के रूप में रहेगा।

8. मालिक पर आँख मूंद कर भरोसा करना-

अक्सर कम-पढ़ें लिखे मजदूरों को ज्यादा शोषण का सामना करना पड़ता है। जब वो दूर किसी शहर में कमाने जाते हैं तो मालिक/ठेकेदार उनको हर महीने खुराक (खाने-पीने का खर्चा) के नाम पर कुछ पैसा दे देता है। वो उनको कहता कि पैसा कहाँ रखोगे? मेरे पास जमा होता रहेगा और घर जाते समय इकठ्ठा ले लेना।

ऐसे में भोले-भाले मजदुर उनको झांसे में आ जाते हैं। जिसके बाद वह उनको ज्यादा पैसा हो जाने पर नहीं देता है। इसलिए अगर आपको धोखा से बचना है तो हर हाल में अपना पैसा (Salary) काम खत्म होते ही ले लिया करें।

9. अपने हक़ और अधिकार की जानकारी नहीं होना-

अगर आप प्राइवेट नौकरी/मजदूरी करने जा रहे हैं। ऐसे में सरकार के द्वारा आपको कुछ कर्मचारी के अधिकार दिए गए है। जिसकी जानकारी नहीं होने से आपका शोषण ज्यादा होता है। देश के अंदर हर दुकान/होटल/रेस्टोरेंट, सिनेमा घर, कंपनी, फैक्ट्री, सरकारी गैर सरकारी विभाग आदि में पालन करना होता है।

हम आप तमाम कर्मचारियों के अधिकार की जानकारी जागरूकता के लिए ब्लॉग पर प्रकाशित करते हैं। जिसको पढ़कर अपने साथ होने वाले शोषण को कम कर सकते हैं।

प्राइवेट नौकरी करने वाले लोगों को ध्यान रखने वाली 9 महत्वपूर्ण बातें, जानिए?

प्राइवेट कर्मचारियों के लिए कंपनी के नियम की जानकारी

यह कुछ बेसिक बातें हैं। जिसको अगर एक प्राइवेट कर्मचारी इग्नोर करता है तो उसको बाद में पछताना पड़ता है। यही नहीं बल्कि उसके पास कोई चारा भी नहीं रहता है। हम आप लोगों के जागरूकता के लिए हमारा यह वर्कर वॉयस डॉट इन ब्लॉग हैं। जिसके माध्यम से आपको आपके हक़ और अधिकार की जानकारी समय-समय पर दी जाती है। जिससे आप मालिकों के चालाकियों को बारीकी से समझने में और उससे बचने में सहायता मिलेगी।

यह भी पढ़ें-

Share this

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

Leave a Comment

error: Content is protected !!