दिल्ली सरकार ने मजदूरों के न्यूनतम वेतन 2020 का मंहगाई भत्ता जारी किया

दिल्ली सरकार ने न्यूनतम वेतन पर काम करने वाले मजदूरों के महंगाई भत्ते 2020 में वृद्धि की है. जिसका इंतजार दिल्ली के 50 लाख मजदूर पिछले कई महीने से था. इसके लिए हमने एक आरटीआई लगाकर सरकार को ध्यान दिलाने की कोशिश की थी. जो कि काम कर गया और दिल्ली के उप मुख्यमंत्री सह लेबर मिनिस्टर मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को मंहगाई भत्ता के बारे में जानकारी दी है.

दिल्ली के मजदूरों का न्यूनतम वेतन 2020

दिल्ली के नए लेबर मिनिस्टर श्री सिसोदिया ने लाइव मिंट के अनुसार कहा कि सरकार कोरोनोवायरस संकट के दौरान श्रमिकों को समय पर वेतन सुनिश्चित करेगी. सरकार ने अपने बयान में कहा कि महंगाई भत्ते (डीए) सहित संशोधित न्यूनतम मजदूरी, सभी अनुसूचित रोज़गारों में अकुशल, अर्ध-कुशल और कुशल श्रेणियों पर लागू होगी.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद दिल्ली के मजदूरों का न्यूनतम वेतन 22 अक्टूबर 2019 से इस प्रकार तय किया गया है- अकुशल – 14842 / महीना, अर्ध-कुशल- 16341 / महीना, कुशल- 17991 / महीना, अत्यधिक कुशल – 19572 / महीना था. देश में कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन किया गया था. जिसके बाद दिल्ली सरकार ने अप्रैल 2020 का मंहगाई भत्ता का नोटिफिकेशन 2020 नहीं जारी किया था.

हमने RTI लगाकर Minimum Wages in Delhi की मांग की

जिसके बाद हमने RTI लगाकर Minimum Wages in Delhi के इस देरी के जिम्मेदार अधिकारी का न केवल नाम पूछा, बल्कि यह भी पूछ लिया कि उस अधिकारी पर क्या करवाई की जायेगी? दिल्ली न्यूनतम वेतन अप्रैल 2020 मंहगाई भत्ता का नोटिफिकेशन कब तक प्रकाशित किया जायेगा? हमारे इस सवाल का जवाब देना उनके लिए आसान नहीं था.

जब इसका जवाब नहीं आया तो हमने नियम के अनुसार RTI का प्रथम अपील लगाया. जिस First Appeal की सुनवाई 25 नवंबर 2020 को लेबर कमिश्नर ऑफिस श्यामनाथ मार्ग में हुई थी. जिसकी जानकारी हमने अपने ब्लॉग और यूट्यूब के माध्यम से दी थी. इसके साथ ही यह भी बताया था कि लेबर कमिश्रर ऑफिस में अधिकारी ने बताया कि DA नोटिफिकेशन 15 दिन के अंदर ही प्रकाशित हो जायेगा.

हमारा आरटीआई काम कर गया था. असल में हमारे आरटीआई मिलने के बाद लेबर विभाग ने मंहगाई भत्ता का फाइल Put Up किया था. जिसके बाद एक बार फाइल में कुछ ऑब्जेक्शन लगकर वापस आ गया था. पिछले हप्ते ही दुबारा से लेबर विभाग ने अप्रूवल के लिए भेजा था. ऐसे अभी लेबर विभाग का ऑफिसियल वेबसाइट चेक किया. वहां अभी तक नोटिफिकेशन अपडेट नहीं किया गया हैं. उम्मीद हैं जल्द ही नोटिफिकेशन Upload किया जायेगा.

दिल्ली सरकार ने मजदूरों के न्यूनतम वेतन 2020 का मंहगाई भत्ता जारी किया

श्री मनीष सिसोदिया के अनुसार दिल्ली न्यूनतम वेतन 01 अक्टूबर 2020 से अकुशल – 15,492 / महीना (daily ₹596) , अर्ध-कुशल- 17,096 / महीना (daily ₹657) , कुशल- 18,797 / महीना(daily ₹723), अत्यधिक कुशल – ₹20,430 / महीना(daily ₹786) से कम नहीं दिया जा सकता है. न्यूनतम वेतन अधिनियम के अनुसार मासिक वेतन में 26 से भाग देकर 1 दिन का वेतन कैलकुलेट कर सकते हैं. हमारी जानकारी के अनुसार इसमें आपके अप्रैल और अक्टूबर 2020 का दोंनो मंहगाई भत्ता शामिल है. जो कि नोटिफिकेशन प्राप्त होने के बाद स्पष्ट हो जायेगा.

हमारा तो मानना हैं कि “कौन कहता हैं कि आसमान में सुराग नहीं हो सकता, एक पत्थर तबियत से तो उछालो यारो”. लेबर विभाग दिल्ली में आरटीआई में कहा था कि “मंहगाई भत्ता जरुरी प्रावधान नहीं हैं” और साथ में यह भी कहा कि जब सरकार approve करेगी तभी हम नोटिफिकेशन जारी करेंगे. ऐसे तो अभी के मंहगाई के हिसाब से काफी कम बढ़ोतरी की गई हैं. मगर अगर हम मिलकर सरकार को मजबूर न किये होते तो यह भी मिलना मुश्किल होता. उम्मीद हैं आप इस जानकारी को अपने हर साथी तक शेयर करेंगे. दोस्तों, यह आपके सहयोग के बिना कभी भी सम्भव भी था. एक बार फिर से आप सभी लोगों का धन्यबाद.

यह भी पढ़ें-

Share this

यदि आपके पास वर्कर से सम्बंधित हिंदी में कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे तुरंत ही email करें – [email protected]

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें .

4 thoughts on “दिल्ली सरकार ने मजदूरों के न्यूनतम वेतन 2020 का मंहगाई भत्ता जारी किया”

  1. Dear sir. thekdar hamare paise nahi de raha ahi. 40. Dino taka hamse kaam karvaya. Bola tha ki 2 mahine me aap k paise aap k account me bhej dega. Lekin aaj, 8.9. Mahine ho gaya lekin paise abhi tak nahi mila. Thekdar haryana ka hai fatehpur me kaam chala tha. Ham Varanasi k rahane wale hai. Sir madat chahiye taki hamare paise mill jaye sir help my.

    Reply
    • अपने एरिया (जहाँ आपने काम किया) के लेबर कमीश्नर ऑफिस में लिखित शिकायत करें.

      Reply
    • आपके सामने ऊपर पोस्ट में हमने आर्डर का कॉपी दिया हैं. आप अब भी उस सरकार से उम्मीद कर रहे, जो आपका डीए देने के मूड में नहीं थी.

      Reply

Leave a Comment