मोदी सरकार द्वारा पेट्रोल दाम बढ़ाने से परेशान युवक ने पत्नी को लिखा पत्र, वायरल

बिहार: मोदी सरकार के द्वारा पट्रोल का दाम आसमान छू रहा है। जिससे आम जनता पर काफी असर पड़ा है, जिसका लोग अपने-अपने तरीके से विरोध कर रहे हैं। ऐसे में समस्तीपुर जिला अंतर्गत पटोरी- धमौन के एक युवक जिसकी पत्नी उसको छोड़ कर मायके चली गई है। मोदी सरकार द्वारा पेट्रोल दाम बढ़ने से परेशान युवक ने निशाना साधते हुए अपनी नाराज पत्नी को एक पत्र लिखा है, जो कि शोसल मीडिया पर वायरल हो रहा है। आइये जानते हैं कि आखिर उसमें उसने ऐसा क्या लिखा है?

मोदी सरकार द्वारा पेट्रोल दाम

देश में बढ़ती मंहगाई ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है। दूसरी तरफ पेट्रोल और डीजल के दामों में हर रोज वृद्धि की जा रही है। पिछले 9 दिनों में पेट्रोल-डीजल के दामों में 8 बार बढ़ोतरी की गई है। जिसका असर आम लोगों के जीवन पर पड़ा है।जिसके खिलाफ कांग्रेस सांसद राहुल गाँधी ने नरेंद मोदी को निशाना साधते हुए ट्वीट किया है –

प्रधानमंत्री की Daily To-Do List

1. पेट्रोल-डीज़ल-गैस का रेट कितना बढ़ाऊँ
2. लोगों की ‘खर्चे पे चर्चा’ कैसे रुकवाऊँ
3. युवा को रोज़गार के खोखले सपने कैसे दिखाऊं
4. आज किस सरकारी कंपनी को बेचूँ
5. किसानों को और लाचार कैसे करूँ

पेट्रोल दाम बढ़ने से परेशान युवक ने नाराज पत्नी को लिखा पत्र?

जबकि दूसरी तरफ पेट्रोल की बढ़ती कीमत से परेशान पटोरी धमौन के एक युवक ने मोदी सरकार को निशाना साधते हुए अपनी पत्नी को पत्र लिखा है। आइये जानते हैं कि आखिर उसमें ऐसा क्या लिखा है कि वह वायरल होने लगा?

पाने वाली – संजली कुमारी (बदला हुआ नाम)
ग्राम- बेदौलिया, थाना-जंदाहा
जिला-वैशाली- पिन-844505

सर्वश्रेष्ठ हिंदी कहानियां, लेख और प्रेरणादायक विचार के लिए विजिट करें - HindiChowk.Com

प्रिय संजली,
शुभ प्यार,

जब से तुम घर छोड़ कर गई हो तुम्हारा मोटर साईकिल स्पेलेंडर प्लस घर पर लगा रहता है। लाॅकडाउन के बाद से मेरी आर्थिक स्थिति बहुत ही खराब हो गई है जिस वजह से पहले की तरह मोटर साईकिल का मेन्टेनेंस भी नही कर पा रहा हूँ। ऐसे भी यह गाड़ी तुम्हारी माँ ने तुम्हारे लिए दिया था। जब तुम ही मुझे छोड़कर चली गई तो इस गाड़ी का अब क्या करना?

याद है, जब चार साल पहले जब रोहित ऑटोमोबाइल्स, हाजीपुर से गाड़ी खरीदने गये थे, तब मेरे पास पैसा भी नही था। तुम्हारी खुशी के लिए हम अपने दोस्त अनुरूध कुमार, धमौन से सोलह हजार रूपया कर्ज लिया था, मगर सोलह हजार में तो गाड़ी नही हो सकता था। वो तो तुम्हारी माता जी का अहसान है जो तुम्हारे कहने पर उन्होने बाकी पैसे का इंतजाम कर गाड़ी खरीदने मे सहायता की।

मगर प्रिय, जब से प्रधानमंत्री मोदी जी पेट्रोल का दाम 112 रूपया कर दिये तब से तुम्हारा यह गाड़ी मुझे काट खाने को दौड़ता है। मेरे पास इतना मंहगा तेल खरीदने के लिए पैसा भी नही है और यह गाड़ी तुम्हारी याद दिलाता है और रात में रोते-रोते तकिया गीला कर लेता हूँ।

हे प्रिय, अगर तुम मेरे पास वापस नही आ सकती तो हाथ जोड़कर विनती है कि अपनी गाड़ी (दो चाभी के साथ) ले जाकर मुझ गरीब पर अहसान कर दो। जिसका अनुरोध हमलोग पिछले कई महीनों से फोन एवं अन्य माध्यम से कर रहे हैं। वैसे भी 112 रूपया पेट्रोल भरवाना मेरे बस का नही, मेरी तो साईकिल ही अच्छी है।

तुम्हारी याद में तुम्हारा पति

(शिवनाथ कुमार महतो)
ग्राम+पोस्ट-इनायतपुर
थाना-पटोरी, भाया-महनार
जिला-समस्तीपुर
दिनांक- 25.03.2022

Letter to petrol by Patory

यह भी पढ़ें-

Share this

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

Leave a Comment

error: Content is protected !!