रेलवे मालगाड़ी के 24 हजार गार्ड हटाकर ईओटीटी यंत्र लगायेगा, टेंडर जारी

नई दिल्ली: रेलवे में दिन प्रतिदिन नई-नई तकनीकों का इस्तेमाल कर हर विभाग से कर्मचारीयो का छटनी युद्धस्तर पर जारी है. अभी हाल ही में रेल मंत्रालय ने 17 रेल मंडलों से करीब 11 हजार पदों को खत्म करने का निर्देश जारी किया है. अब दूसरी बड़ी खबर आ रही है कि भारतीय रेल में आठ हजार मालगाड़ियां हैं, जिनमे 24 हजार गार्ड तैनात हैं. रेलवे मालगाड़ी के गार्ड हटाकर ईओटीटी यंत्र लगायेगा.

रेलवे मालगाड़ी के 24 हजार गार्ड

मिडिया रिपोर्ट के हवाले से रेलवे अधिकारियों के अनुसार मालगाड़ियों के इंजन कक्ष में ईओटीटी का कैब डिस्प्ले यूनिट (सीडीयू) लगेगा. दूसरी डिस्प्ले यूनिट मालगाड़ियों की अंतिम लगेगी. इससे इंजन चालक व मालगाड़ी के अंतिम वैगन के बीच संपर्क बना रहेगा. दोनों हिस्से की डिस्प्ले यूनिट में रेडियो ट्रांसमीटर लगा होगा.
इससे इंजन चालक को पता चलता रहेगा कि मालगाड़ियों के सभी वैगन पटरी पर दौड़ रहे है या नहीं. पहले इस काम को रेल गार्ड करते थे. ईओटीटी यंत्र लगाने में करीब दस लाख रुपये रेलवे खर्च करेगा. रेलवे ने इस यंत्र के लिए 100 करोड़ का टेंडर जारी किया है.

बोगी अलग होने पर इंजन चालक को मिलेगा संकेत

मालगाड़ी की बोगी अलग होने पर इंजन चालक के ट्रांसमीटर पर निश्चित समय पर संकेत आएंगे व ब्रेक लग जाएगा तो आगे के वैगन से टक्कर नहीं होगी. बता दें कि, इस तरह के यंत्र 2008 में लगाए गए थे, लेकिन कुछ कमियों के कारण इन्हें हटा दिया गया. समाचार सूत्रों के मुताबिक इस यंत्र के लग जाने से 8 हजार मालगाड़ियों के गार्ड बेरोजगार नहीं हो इसके लिए भी रेलवे उपाय ढूंढ रहा है. रेलवे अधिकारियों का कहना है कि मालगाड़ियों के गार्ड को असिस्टेंट स्टेशन मास्टर का काम सौंपा जाएगा.
Share this

यदि आपके पास वर्कर से सम्बंधित हिंदी में कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे तुरंत ही email करें – [email protected]

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें .

Leave a Comment