MP शिक्षकों व कर्मचारियों के लिए ऑनलाइन शिकायत निपटान प्रणाली का शुभारंभ

अब मध्यप्रदेश के शिक्षा विभाग में कार्यरत शिक्षकों व कर्मचारियों के लिए ऑनलाइन शिकायत निपटान प्रणाली बनाई गई है. अब उनको किसी अन्य विभाग के कर्मचारियों के चक्कर नहीं लगानी होगी. उनकी किसी भी प्रकार की समस्याओं के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने एक ऑनलाइन शिकायत का सिस्टम (Online Complaint Redressal System) तैयार किया है. जिसका नाम “परिवेदना निवारण प्रबंधन प्रणाली” है. प्रदेश के शिक्षा राज्यमंत्री इंदर सिंह परमार ने मंगलवार को शिक्षक और विभागीय कर्मचारियों की शिकायत दर्ज करने की ऑनलाइन परिवेदना निवारण प्रबंधन प्रणाली का शुभारंभ किया. यह प्रणाली शिक्षकों और कर्मचारियों के लिए उपयोगी साबित होगा.

ऑनलाइन शिकायत निपटान प्रणाली

यह शिकायत निवारण प्रणाली विभाग के एम शिक्षा मित्र एप पर एक नया ऑप्शन उपलब्ध होगा. शिक्षा मंत्री ने कहा की सरकारी विद्यालय को स्वच्छ और आकर्षक बनाए. इससे सरकारी स्कूलों के प्रति विद्यार्थियों में और उनके परिजनों में सरकारी स्कूलों में शिक्षा प्राप्ती की ललक और बढ़ेगी. मंत्री महोदय ने भोपाल संभाग के स्कूलों को आकर्षक बनाने की कार्ययोजना और जबलपुर संभाग की पहल मेरी शाला मेरी जिम्मेदारी के तहत किए प्रयासों की सराहना की. इसके साथ ही उन्होंने सभी स्कूलों के शिक्षकों व् प्राचार्य से इस पर अमल में लाने का निवेदन किया है.

उन्होंने आगे कहा कि विभाग द्वारा तैयार किये शिकायत प्रणाली से कार्यरत व् सेवानिवृत्त शिक्षक या कर्मचारी अपनी नौकरी से सम्बंधित शिकायत ऑनलाइन दर्ज करवा सकते हैं. जिसके उपरांत उनको बिना कहीं भागदौड़ किये, अपने शिकायत पर घर-बैठे संतोषजनक परिणाम पा सकेंगे. विभाग द्वारा विकसित प्रणाली में कार्यरत शिक्षकों और कर्मचारियों की शिकायतों की जिम्मेदारी लेते हुए कहा की उनकी ऑनलाइन शिकायतों पर वह पूरा ध्यान रखेंगे. शिक्षा पोर्टल पर शिकायत दर्ज की जा सकेगी. वेबिनार में प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी, लोक शिक्षण संचालनालय की आयुक्त जयश्री कियावत और संचालक केके द्विवेदी सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे.

परिवेदना निवारण प्रबंधन प्रणाली (Online Complaint Redressal System)

विभाग में कार्यरत एवं सेवानृवित शिक्षकों एवं कर्मचारियों के समस्याओं को नियत समय पर ऑनलाइन निपटान के लिए “परिवेदना निवारण प्रबंधन प्रणाली” शुरुआत की गई है. उक्त ऑनलाइन शिकायत निपटान प्रणाली के एजुकेशन पोर्टल एवं एम-शिक्षामित्र एप्प पर क्रियान्वयन के लिए निम्न निर्देश जारी किया गया है.

जब भी कोई शिक्षक या कर्मचारी ऑनलाइन शिकायत दर्ज करता है. ऐसे में शिकायतकर्ता के मोबाइल पर एसएमएस द्वारा शिकायत दर्ज संबंधी जानकारी प्राप्त होगी. शिकायतकर्ता अपने दर्ज शिकायत को ऑनलाइन स्टेटस चेक कर पायेगा. इसके साथ ही शिकायत को निपटाने और मॉनिटरिंग के लिए नोडल अधिकारी की नियुक्ति की जाएगी. उनको शिकायत के निपटान संबंधी रिपोर्ट 7 दिवस में एजुकेशन पोर्टल पर सबमिट करने होंगे.

प्रत्येक कार्यदिवस पर प्राप्त शिकायत का परीक्षण कर विवरण नोटशीट पर कम्प्यूटर जेनेरेटेड प्रिंटआउट प्राप्त कर सक्षम अधिकारी/कार्यालय प्रमुख को प्रस्तुत किया जायेगा. सक्षम अधिकारी/कार्यालय प्रमुख द्वारा शिकायत के स्वरूप के आधार पर निश्चित किया जायेगा कि इस शिकायत का निपटान उनके विभाग के द्वारा होगा या इसका निपटान किसी अन्य कार्यालय से किया जाना है. अगर शिकायत का निराकरण किसी अन्य कार्यालय से किया जाना हैं तो वो अपनी टिप्पणी लिखकर आगे उस विभाग को 3 कार्यदिवस में फॉरवर्ड करना होगा.

ऑनलाइन शिकायत के निपटान का समय सीमा

आवेदक द्वारा दर्ज की गई ऑनलाइन शिकायत (Online Complaint) के लिए निपटान का समय सीमा 1 महीने का होगा, किन्तु जिन मामलों में विभाग या सामान्य प्रशासन  द्वारा पहले से समय सीमा निर्धारित है. उक्त मामलों में समय सीमा उस आधार पर होगी. ऑनलाइन शिकायत (Online Complaint) के समाधान के बाद आदेश को ऑनलाइन अपलोड किया जाएगा. जिससे शिकायतों को तय समय और पारदर्शिता से निपटान किया जा सके. इससे शासकीय समय और व्यय की बचत होगी और विभाग के विरुद्ध न्यायालयीन प्रकरणों में भी कमी आने की उम्मीद है.

यह भी पढ़ें-

Share this

यदि आपके पास वर्कर से सम्बंधित हिंदी में कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे तुरंत ही email करें – [email protected]

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें .

Leave a Comment