• Breaking News

    Labour Court Me Shikayat Kaise Karen यदि Company ने Forcefully Resignation लिया

    Labour Court Me Shikayat Kaise Karen यदि Company ने Forcefully Resignation लिया

    हमारे पास महीने में लगभग 10 में से 4 मैसेज Job Termination को लेकर आता हैं. जिसमें ज्यादातर साथियों  का सवाल होता है कि Labour Court Me Shikayat Kaise Karen यदि Company ने Forcefully Resignation ले लिया. आज अपने इस पोस्ट के माध्यम से इसके बारे में बताने जा रहा हूं. जो कि हर तरह के कर्मचारियों के लिए लाभदायक साबित होगा.  

    Forcefully Resignation ले लेना और Dues Amount नहीं देना आम बात है.

    आजकल बड़ी से बड़ी और छोटी से छोटी कंपनी अधिक मुनाफा कमाने में लगी है. ये लोग कच्चा माल और उधोग के अन्य संसाधन में पैसा कम नहीं करा सकते मगर मजदूरों का दोहन कर आसानी से फायदा कमाया जा सकता है. आज 8 घंटे के ड्यूटी के जगह 12 घंटे काम और सरकार द्वारा तय Minimum Wages भी नहीं देना इसका सबसे बड़ा Example मात्र हैं. इसके आलावा काम करवाकर Forcefully Resignation ले लेना और Dues Amount नहीं देना आम बात है. हमारा यह Post आज इसी सन्दर्भ में हैं. कुछ साथियों ने पूछा कि ऐसे स्थिति में हम  Labour Court Me Shikayat Kaise Karen.

    तुम्हे Terminate कर Black List कर दिया तो Future में कभी Job नहीं मिल पायेगा 

    अगर आपके साथ भी ऐसा हुआ तो हम आपसे पूछना चाहते है कि आखिर वो ऐसी क्या मज़बूरी थी, जिसके कारण आपने उनके दबाब देने से Resign कर दिया. ऐसे भी आप 18 वर्ष से ज्यादा के हैं. अपना अच्छा बुरा सोच-समझ सकते हैं. अगर आप Resign नहीं देते तो वो आपको फांसी पर तो नहीं चढ़ा देते? ऐसा हमने आपसे पहले भी कई साथियों से पूछा था. उन्होंने बताया कि Company के प्रबंध ने कहा कि अगर तुम Resign नहीं दोगे तो हम तुम्हें Terminate कर देंगे. अगर हमने तुम्हे Terminate कर Black List कर दिया तो Future में कभी Job नहीं मिल पायेगा. इसके बाद वो डर से Resign कर दिया. क्या आपके साथ भी तो ऐसा ही नहीं हुआ. चाहे कोई भी कारण हो, नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर बताइयेगा.

    Complaint Labour Court में कर सकता हूं?

    इसके बाद अक्सर मामलों में यह देखा जाता है कि Forcefully Resignation कर साथ ही धोखे से Full & Final का फार्म भी Sign करवा लेते. जिसके बाद उनका Dues Amount का Payment भी नहीं किया जाता हैं. ऐसे में आपका Question होता है कि अब क्या मैं इस मामले की Complaint Labour Court में कर सकता हूं. तो इसके बारे में हमारा जबाब होगा कि "जी हां" बिलकुल कर सकते हैं. इसके लिए आपको निम्न स्टेप को Follow करना होगा.


    अक्सर हमने देखा है कि जब भी आपका Forcefully Resignation लिया जाता है तो यह काम प्रबंध खुद नहीं करता बल्कि आपके साथ काम करने वाले सहकर्मी से करवाता है. इसमें आपके सहकर्मी जिसको आप चमचे के नाम से भी बुलाते वो अच्छी भूमिका निभाते हैं. वो आपको डरायेंगे कि सर बोल रहे थे कि तुम Resign नहीं करोगे तो वो तुम्हारा Career ख़राब कर देंगे, ये रोक देंगे या ओ रोक देंगे. सबसे पहले हम तो कहेंगे कि ऐसे लोगो से दुरी बनाकर रखें. ये वही लोग हैं जो खुद न तो कुछ करते और न ही आपको कुछ अच्छा करने देते हैं.

    जैसा की पहले हमने बताया है की जैसे ही कोई Officer आपसे Resignation की मांग करें, बिना समय गवाएं आप उनके Email पर या स्पीड पोस्ट के द्वारा पूछ लें कि "सर आपने मुझे रिजाइन करने को कहा है, कृपया इसको Confirm कराएं और अगर हां तो कारण भी स्पष्ट करें." ऐसे में या तो आपका मामला वही दब जायेगा और अगर नहीं भी दबा तो कल को Forcefully Resignation को साबित करने में सबूत के रूप में काम करेगा. हमारे द्वारा बताये उपरोक्त बातों की तरह अगर आपकी कोई सर के नाम पर डरता धमकाता हो तो उसका ऑडियो या वीडियों Clip बना कर रखा लें. यह भी बाद में बहुत काम का साबित होगा.


    Labour Court Me Shikayat Kaise Karen यदि Company ने Forcefully Resignation लिया?




    इसके बाद अगर आपका Forcefully Resignation ले लिया जाता हो तो जितना जल्द से जल्द हो नजदीकी पुलिस स्टेशन में जाकर एफआईआर दर्ज करवायें. इसके साथ ही उस एफआईआर की कॉपी लेकर सम्बंधित लेबर कमिश्नर के ऑफिस में भी शिकायत करें. जिसके बाद लेबर कमिश्नर आपकी मामले की सुनवाई के बाद लेबर कोर्ट के लिए Refer करेंगे.

    दोस्त, इस सम्बन्ध में आपको कोई भी सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर अवश्य पूछियेगा. इसके साथ ही इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगों को शेयर कीजिए ताकि यह जानकारी किसी जरुरतमंद के काम आ सके.

    यह भी पढ़ें-

    No comments:

    Post a Comment

    अपना कमेंट लिखें

    loading...