सुप्रीम कोर्ट में ईपीएफ हायर पेंशन की सुनवाई शुरू, किसको कितना लाभ मिलेगा?

सुप्रीम कोर्ट में ईपीएफ हायर पेंशन की सुनवाई 17 अगस्त 2021 से लगातार चल रही है। जिसके बारे में आप में से हर सरकारी/गैर सरकारी कर्मचारी जानना चाहते हैं कि इससे आपके (Private Employees) पीएफ पेंशन में क्या फर्क पड़ेगा? अगर माननीय सुप्रीम कोर्ट ईपीएफ पेंशन पर केरल हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के पूर्व फैसले को कायम रखता है तो ऐसे में लाखों ईपीएफ पेंशनर्स के पेंशन राशि कई गुणा बढ़ जायेगा। आइये जानते हैं कि eps 95 pension का लेटेस्ट उपडेट क्या है? अगर सुप्रीम कोर्ट का फैसला कर्मचारियों के पक्ष में जाता है तो किसको व् कितना लाभ मिलेगा?

सुप्रीम कोर्ट में ईपीएफ हायर पेंशन

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार (12 अगस्त 2021) को यूनियन और इंडिया और EPFO द्वारा दायर याचिकाओं की स्थगित कर दिया था। जिसमें माननीय सुप्रीम कोर्ट द्वारा कहा गया था कि कर्मचारियों के पेंशन राशि को 15 हजार रूपये तक सीमित नहीं किया जा सकता है। यह अंतिम आहरित वेतन  के समानुपाती होना चाहिए। अब इन मामलों की सुनवाई 17 अगस्त 2021 से प्रतिदिन के आधार पर की जायेगी। जिसके बाद अभी 17 अगस्त 2021 और 18 अगस्त 2021 को ईपीएफ पेंशन वृद्धि वाले मैटर की सुनवाई हुई है।

EPS Pension 95 पूरा मामला क्या है? EPS 95 pension latest news 2021 Supreme Court?

कर्मचारियों के ईपीएफ पेंशन वृद्धि पर केरल हाईकोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला दिया था। जिस फैसले में कर्मचारियों के पीएफ पेंशन की कैलकुलेशन पूरी सैलरी के अनुसार देने को कहा गया था। जो केंद्र सरकार को मंजूर नहीं होता है। केंद्र सरकार ईपीएफओ विभाग केरल होईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देता है।

सर्वश्रेष्ठ हिंदी कहानियों का संग्रह - हिंदी चौक डॉट कॉम

माननीय सुप्रीम कोर्ट ने 01 अप्रैल 2019 मामले की सुनवाई करते हुए केरल हाईकोर्ट के फैसले को बरकरार रख EPFO की याचिका को ख़ारिज कर दिया था। जिससे देश में लाखों ईपीएफ पेंशनधारकों के पेंशन वृद्धि का रास्ता साफ़ हो गया था। मगर केंद्र सरकार के तरफ से सुप्रीम कोर्ट में पुनः विचार याचिका दायर किया जाता है।जो कि सुप्रीम कोर्ट में पिछले लगभग 2 वर्षों से पेंडिंग है। जिसकी सुनवाई 17 अगस्त- 18 अगस्त 2021 को हुई है।

ईपीएफ पेंशन सुप्रीम कोर्ट के निर्णय 2021 | ईपीएफ पेंशन वृद्धि ताजा खबर

लाइव लॉ के खबर के अनुसार ईपीएफओ विभाग के तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता सी आर्यमा सुंदरम ने कोर्ट के सामने अपना पक्ष रखा है. इसमें लगातार दो दिन (17-18) तक सुनवाई चली है. जिसके बाद आगामी सुनवाई 24 अगस्त 2021 होने की उम्मीद है. न्यायमूर्ति यूयू ललित और न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी की पीठ ने कहा कि उनका प्रथम दृष्टया विचार है कि तीन जजों की बेंच द्वारा मामले की सुनवाई की और जरूरत है और तदनुसार मंगलवार, 24 अगस्त तक एक आदेश पारित करेंगे।

आने वाले समय में ईपीएफ पेंशन पर सुप्रीम कोर्ट का क्या फैसला आयेगा। यह तो बाद की बात है मगर इसको जनाने से पहले आपके मन में उत्सुकता जरूर होगी कि कर्मचारी के हक़ में फैसला आने से किसको व् कितना लाभ मिलेगा? आज हम आपको इसके बारे में बताने जा रहे हैं।

अभी तक कैसे मिलती है ईपीएफ पेंशन?

अगर आपके पास EPF Account है तो ऐसे में कर्मचारी के सैलरी (मूल वेतन+महंगाई भत्ता) का 12% कर्मचारी का शेयर और ठीक उतना ही एम्प्लायर के तरफ से जमा होता है। अब जो एम्प्लायर का शेयर 12 फीसदी जमा होता है। उसका 8.33 % हिस्सा कर्मचारी पेंशन योजना (ईपीएस) में जमा हो जाता है। अगर किसी कर्मचारी ने एक ही एम्प्लायर या अलग-अलग एम्प्लायर के पास 10 साल की सेवा पूरी कर ली हो। ऐसे में वह ईपीएफ पेंशन (EPS Pension) का रिटारमेंट के बाद हक़दार हो जाता है।

अगर माननीय सुप्रीम कोर्ट का फैसला कर्मचारियों के पक्ष में आता है तो इससे प्राइवेट कर्मचारी के ईपीएस पेंशन कई गुणा बढ़ जायेगा। आप भी सुप्रीम कोर्ट के आदेश बरकरार रहने की स्थिति में ईपीएस पेंशन को निम्न फॉर्मूले से कैलकुलेट कर सकते हैं-

ईपीएस पेंशन का कैलकुलेशन = (कर्मचारी द्वारा नौकरी में के कुल साल+2)/70 * अंतिम सैलरी (Last Withdrawn Salary).

सुप्रीम कोर्ट में ईपीएफ हायर पेंशन की सुनवाई शुरू, किसको कितना लाभ मिलेगा?

अब अगर सोहन की अंतिम सैलरी 50 हजार रूपये है। उसने अपनी कंपनी में 33 साल नौकरी की थी। अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार ईपीएस पेंशन की गणना कुछ इस प्रकार से होगा- EPS Pension= (33+2)/70*50,000 = 25,000/- रूपये मासिक. आप भी उपरोक्त फार्मूला में खुद के पेंशन को कैलकुलेट कर देख सकते हैं।

प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले साथी प्रवीण कोहली की पेंशन जो पहले सिर्फ 2,372 रुपये थी। उनके इस फैसले के बाद बढ़कर 30,592 रुपये हो गई है। उन्होंने बांकी लोगों को फायदा दिलाने के लिए एक मुहीम चलाई है। यह बस एक उदाहरण है ताकि आपलोगों को यकीन हो सके। आपसे अनुरोध है कि इस जानकारी हो अधिक से अधिक शेयर करें।

यह भी पढ़ें-

Share this

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए (यहाँ Click) करें.

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

Leave a Comment