दिल्ली में CPWD के कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों ने प्रदर्शन कर, मोदी सरकार से क्या मांग किया

कल दिल्ली में CPWD के कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। वो लोग पिछले तक़रीबन 27-35 साल से लगातार कॉन्ट्रैक्ट पर सफाईकर्मी के रूप में काम कर रहे थे। उन सभी कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया गया है। जिसके विरोध स्वरूप सड़क पर उतर कर प्रदर्शन किया। उन्होंने मोदी सरकार से उनकी नौकरी बहाल करने की मांग की है। आइये जानते हैं कि पूरा मामला क्या है?

दिल्ली में CPWD के कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया

दिल्ली में CPWD के कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों (Contract Employees) ने कल ऑल इंडिया CPWD  कर्मचारी यूनियन के बैनर तले जोरदार प्रदर्शन किया। श्री हुकुमचंद (कर्मचारी नेता) ने बताया कि कर्मचारियों का मामला श्रम अधिकारी के पास विचाराधीन है। जबकि इस दौरन प्रबंधकों और ठेकेदार की मिली भगत से 21 कर्मचारियों को बिना किसी नोटिस के नौकरी से निकाल दिया गया है। वो ऑल इंडिया CPWD  कर्मचारी यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं।

Delhi Contract Employee News in hindi

दिल्ली सीजीओ कम्प्लेक्स के बाहर नौकरी से निकाले सभी कर्मचारियों ने प्रदर्शन में भाग लिया। वो प्रबंधकों के खिलाफ नारा लगा रहे थे। उनमें ज्यादातर महिला कर्मी थे। उनका कहना था कि लॉकडाउन के समय उनलोगों ने 12-12 घंटे काम किया। जिसके वावजूद उनको दीपावली के समय नौकरी से निकाल दिया गया।अब इस मंहगाई में वो कैसे अपने बच्चे पालेंगे? उन्होंने ने नरेंद्र मोदी समेत सभी सम्बंधित अधिकारियों को पत्र लिखकर न्याय की गुहार लगाईं है। मगर अब देखना है कि वो लोग कब तक सुनवाई करते हैं?

CPWD Employees न्यूज़ हिंदी

ऐसे तो उनको सेंट्रल गवर्नमेंट के अंतर्गत ठेका कर्मचारी के रूप में रखा गया था। मगर पिछले 27 वर्षो से अधिक से लगातार काम करते आ रहे थे। उनके समय-समय पर ठेकदार बदल दिए जाते थे, मगर वो ही काम करते आ रहे थे। यहाँ कि उनको न्यूनतम वेतन का भी भुगतान नहीं किया जा रहा था। जिसकी शिकायत पर प्रबंधकों के द्वारा ठेकदार पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती थी। आगे कर्मचारियों ने कहा कि जब तक हमें नौकरी पर वापस नहीं रखा जाता है। हम यहाँ कंपनी के गेट के बाहर रोज प्रदर्शन करेंगे।

दिल्ली में CPWD के कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों ने प्रदर्शन कर, मोदी सरकार से कहा

केंद्र सरकार न्यूनतम मजदूरी 2021

केंद्र सरकार के अंतर्गत किसी विभाग में कॉन्ट्रैक्ट वर्कर, आउटसोर्स वर्कर या डेलीवेजर वर्कर को सेंट्रल स्फीयर का न्यूनतम वेतन 2021 देने का प्रावधान है। जिसका नोटिफिकेशन चीफ लेबर कमिश्नर (सेंट्रल) के द्वारा जारी किया जाता है। ऐसे देखें तो वर्तमान ने सेंट्रल स्फीयर का न्यूनतम वेतन दिल्ली सरकार द्वारा जारी न्यूनतम वेतन से अधिक है। जिसकी जानकारी हम समय समय पर ब्लॉग के माध्यम से देते रहते हैं।

यह भी पढ़ें-

Share this

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए (यहाँ Click) करें.

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

Leave a Comment

error: Content is protected !!