• Breaking News

    दिल्ली के कॉन्ट्रैक्ट वर्कर को 2019 में कितना दीवाली बोनस मिलेगा

    दिल्ली के कॉन्ट्रैक्ट वर्कर को 2019 में कितना दीवाली बोनस मिलेगा

    अगर आप दिल्ली में किसी सरकारी विभाग में कॉन्ट्रैक्ट वर्कर के रूप में काम कर रहे हैं तो आपके लिए एक खुशखबरी हैं. आपके लिए दिल्ली सरकार ने दीपावली बोनस से सम्बंधित एक सर्कुलर जारी किया हैं. आज हम इस पोस्ट के माध्यम से बताने जा रहे हैं कि दिल्ली के कॉन्ट्रैक्ट वर्कर को 2019 में कितना दीवाली बोनस मिलेगा? इसके साथ ही उस सर्कुलर का कॉपी भी उपलब्ध करवायेंगे.

    सभी वर्कर को दीपावली के समय बोनस का इंतजार रहता हैं. मगर कुछ जगह बोनस देते और ज्यादातर जगह बोनस नहीं दिया जाता हैं. अगर आप किसी सरकारी विभाग में कॉन्ट्रैक्ट पर काम करते हो तो यह कहकर वोनस नहीं दिया जाता कि तुम तो कॉन्ट्रैक्ट वर्कर हो. बोनस किन-किन को मिल सकता हैं इसको जानने से पहले हम आपको दिल्ली सरकार के उपरोक्त सर्कुलर के बारे में बताना चाहेंगे. 

    इस सर्कुलर को दिल्ली सरकार के लेबर विभाग की डिप्टी लेबर कमिशर (एडमिन) अनीता राणा ने 18.09.2019 को जारी किया हैं. यह सर्कुलर ICSIL के मैनेजर को जारी किया गया हैं और उनके द्वारा दिल्ली के विभिन्न  सरकारी विभागों में काम करने वाले कॉन्ट्रैक्ट वर्कर के बोनस से सम्बंधित बिल के बारे में हैं. लेबर विभाग ने डीएओ, एमटीएस और ड्राइवर के लिए पिछले Financial Year के बोनस की राशि तय की हैं. जो कि इस प्रकार से हैं.  

    इस सर्कुलर के अनुसार अब कांट्रेक्टर ICSIL अपने द्वारा दिल्ली सरकार के विभागों में लगे डीएओ, एमटीएस और ड्राइवर के पिछले Financial Year में ऑफिस में उपस्थिति के अनुसार बिल क्लेम करेगा. जिसके भुगतान के बाद सम्बंधित कॉन्ट्रैक्ट वर्कर्स को उनके खाते में बोनस क्रेडिट किया जाना चाहिए.

    दिल्ली के कॉन्ट्रैक्ट वर्कर को 2019 में कितना दीवाली बोनस मिलेगा 



    ऐसे तो वेज कोड बिल 2019 के लागू होने से कल हो सकता हैं बोनस में बदलाव हो जाए मगर यह चुकी पिछले फिनिसिअल ईयर के हिसाब से मिलता हैं और अगर आप अभी तक के बोनस के नियम को जानना चाहते हैं तो हमारे इस पोस्ट को पढ़ सकते हैं. -The Payment of Bonus Act, 1965 Kya hai? Company ने नहीं दिया तो कहां Complaint करें.

    ऐसे कुछ लोगों ने यह भी बताया कि पिछले साल भी सरकार ने बोनस की घोषणा की थी मगर कर्मचारी को दिया नहीं गया. अगर ऐसा हैं तो यह पता करना जरुरी हैं कि क्या सरकार के तरफ से भुगतान नहीं हुआ या कांट्रेक्टर ने भुगतान लेकर आपको नहीं दिया. इसके लिए आप आरटीआई का सहारा ले सकते हैं. आरटीआई के बारे में अधिक जानकारी के लिए हमारे इस पोस्ट को पढ़िए -What is RTI Act 2005 in hindi (सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005) और RTI Kaise Lagaye?


    यह भी पढ़ें-

    No comments:

    Post a Comment

    अपना कमेंट लिखें

    loading...