Sahara India-Samstipur DM के जांच आदेश का पटोरी प्रशासन ने यूं काट निकाला

बिहार: समस्तीपुर डीएम ने जिले के सभी माइक्रो फाइनेंस कंपनी के जांच का आदेश जारी किया है। जागरण डॉट कॉम के रिपोर्ट के अनुसार डीएम योगेन्द्र सिंह बैंकिग कोषांग के प्रभारी पदाधिकारी, सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं एलडीएम को इस बात की जांच का आदेश दिया कि आरबीआई के गाइडलाइंस के अनुसार सभी नियमों का माइक्रो फाइनेंस कंपनी या फाइनेंशियल कंपनी पालन कर रही है या नहीं। Sahara India-Samstipur DM के जांच आदेश का पटोरी प्रशासन ने यूं काट निकाला?

Sahara India-Samstipur DM के जांच आदेश का पटोरी प्रशासन ने यूं

समस्तीपुर जिले के पटोरी अनुमंडल क्षेत्र में पिछले 14 साल से सहारा इंडिया के नाम पर शाखा चलाकर पैसा वसूला जा रहा। जबकि लोगों को पैसा टर्म पूरा होने पर भी नहीं लौटाया जाता है । जबकि असलियत यह है कि आरबीआई ने सहारा इंडिया को 2008 में पैसा जमा कराने से रोक और 2015 में नॉन बैंकिंग का लाइसेंस ही रद्द कर दिया है। अब सवाल उठता है कि फिर किसके मर्जी से पटोरी व् देश का अन्य जगहों पर इस तरह का फर्जी ब्रांच ऑपरेट कर जनता की गाढ़ी कमाई लूटी गई?

मोदी सरकार, नीतीश सरकार तक को जनशिकायत दी

हमने आज से तकरीबन 25 दिन से पहले 16 फरवरी 2022 और 21 फरवरी 2022 को सभी सम्बंधित अधिकारियों समेत मोदी सरकार, नीतीश सरकार तक को जनशिकायत दी है। जिसके बाद आरबीआई ने तरफ से एक ईमेल आया कि आपकी दो समान शिकायत में एक जो बाद में भेजी है उसको बंद कर रहे हैं। आपका पहला शिकायत हमारे पास पेंडिंग/कार्रवाई कर रहे हैं।

हमें जिसके बाद जानकारी मिली कि समस्तीपुर डीएम ने जिले के अंदर सभी माइक्रो फाइनेंस कंपनी के जांच का आदेश जारी किया है। इसके बाद लोगों के पैसे के लिए एक आस जगी थी, मगर पटोरी प्रशासन ने इसका काट निकाल लिया?

पटोरी एसडीओ को फोन किया तो फोन नहीं उठाया

जब हमने शिकायतकर्ता होने के कारण जफ़र आलम, पटोरी एसडीओ को फोन किया तो फोन नहीं उठाया। जिसके बाद सूत्रों से खबर मिली की उन्होंने पटोरी बीडीओ को जांच का काम दिया है। जब पटोरी बीडीओ से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि हमने JSS साहब को जांच का जिम्मा सौंप दिया है। आपलोग उनसे बात कीजिए और अपनी शिकायत बताइये।

सर्वश्रेष्ठ हिंदी कहानियां, लेख और प्रेरणादायक विचार के लिए विजिट करें - HindiChowk.Com

जब हमने JSS, Patory से बात किया तो पता चला कि उनको 5 माइक्रो फाइनेंस कंपनी/फाइनेंशियल कंपनी के नाम का लिस्ट दिया गया है और केवल उसी का जांच करना है। जो कि न्यूज रिपोर्ट के अनुसार डीएम समस्तीपुर के आदेश के बिलकुल खिलाफ और हास्यपद है।

Sahara India Scam – शिकायत दर्ज करवाया है?

जिसके तुरंत बाद हमने सभी को संबोधित करते हुए निम्न शिकायत दर्ज करवाया है-

Attention Please: पटोरी एसडीओ एवं बीडीओ सह जांच अधिकारी
नॉन बैंकिंग और माइक्रो फाइनेंस कंपनी के RBI गाइडलाइन पालन की जांच,
जिलाधिकारी महोदय, समस्तीपुर के निर्देशानुसार,

महोदय,

हमें काफी दुःख के साथ सूचित करना है कि हमारे निम्न शिकायत पर अभी तक कोई भी कार्रवाई नहीं की है। जबकि अभी भी पटोरी अनुमंडल क्षेत्र में सहारा इंडिया- 1. सहारा इंडिया, शहजादी मार्केट, पटोरी थाना के समीप, शाहपुर पटोरी, समस्तीपुर, 2. सहारा इंडिया, फ्रेंचाइजी कार्यालय, विशेश्वर भवन, पुरानी बाजार, शाहपुर उण्डी, कोड-7527, समस्तीपुर, पिन-848504 व् अन्य पते पर बिना RBI लाइसेंस के नॉन बैंकिंग का काम खुलेआम कर रही है।

जिसमें सहारा इंडिया फाइनेंशियल कॉरपोरेशन लिमिटेड के नाम पर अलग-अलग सोसाइटी जैसे “सहारा क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड, “हमारा इंडिया क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड”, “सहारयन यूनिवर्सल मल्टीपरपज सोसायटी लिमिटेड” और “स्टार्स मल्टीपरपज कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड” आदि के द्वारा गैरकानूनी तरीके से वित्तीय लेनदेन किया जा रहा है।

Sahara India-Samstipur DM के जांच आदेश का पटोरी प्रशासन ने यूं काट निकाला

डीएम समस्तीपुर इस शिकायत का सज्ञान लेते हैं या नहीं

जिसके लिए शिकायत दिनांक 16 फरवरी 2022 व् तक़रीबन 200 जमाकर्ताओं के हस्ताक्षरित पब्लिक पेटिशन 21 फरवरी 2022 को प्रेषित किया है। आपसे अनुरोध है कि जनहित में हमारे शिकायत पर अविलंब क़ानूनी कार्रवाई कर निवेशकों का पैसा वापस करवाया जाए। अब देखना है कि पटोरी प्रशासन के द्वारा क्या रिपोर्ट भेजा जाता है और डीएम समस्तीपुर इस शिकायत का संज्ञान लेते हैं या नहीं?

यह भी पढ़ें-

Share this

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email – [email protected] करें.

Leave a Comment

error: Content is protected !!