How to helping the poor and needy | गरीबों और जरूरतमंदों की मदद कैसे करें?

How to helping the poor and needy – किसी भी व्यक्ति के लिए गरीबी का मतलब अत्यंत निर्धन होने के स्थिति है. एक ऐसा मौका जब लोग अपने छत, भोजन, कपड़ा, बच्चे की पढ़ाई आदि के लिए उचित पैसा नहीं जुटा पाते. गरीबी आने के कई कारण हो सकता है. जिसमें अशिक्षा, बेजरोगारी, बीमारी, प्रकृति आपदा, राजनितिक हिंसा, भ्रष्टाचार, इत्यादि प्रमुख है. निर्धनता के कारण ही गरीब लोग लगातार भूखे रहने, घर के बिना रहने, शिक्षा और उचित अधिकारों के बिना रहने को मजबूर हो जाते हैं.

अपने देश में हालांकि, गरीबी के बहुत से कारण है, मगर मौजूदा परिस्थितियों में लोगों के बीच एकता की कमी के कारण, गरीबों की दशा दिन प्रति दिन और दयनीय होती जा रही है. खैर हम इस पर ज्यादा बात नहीं करेंगे. इसके असल टॉपिक कर आते हैं कि आखिर हम Poor और Needy की Help कैसे कर सकते हैं?

How to helping the poor and needy | गरीबों और जरूरतमंदों की मदद कैसे करें?

आज गरीबी के कई मायने है. जरुरी नहीं को वो लोग ही Poor है जिनके पास Money नहीं है. असल Poor तो भी है तो अपने हक के साथ ही दूसरे के हक पर भी आखें गराये रखते हैं. इतना ही नहीं बल्कि समय आने पर गटक भी जाते हैं. दोस्तों हमें सबसे पहले अपने दिल से अमीर बनाना होगा. अगर हम पढ़े लिखे हैं तो जाहिर सी बात है कि हमने देश के संसाधन के उपयोग कर ही पढाई-लिखाई की है. ऐसे में अगर हम मानव अगर किसी जरूरतमंद मानव के काम न आ पाए तो हमारा मानव जीवन व्यर्थ है.
असल में मानव जीवन का सही उद्देश्य ही है जरुरतमंदों की मदद करना. हमने पाया है कि अगर हम दूसरों की मदद करते हैं तो हमें काफी ख़ुशी मिलती है. यह ख़ुशी हमारे जीवन के तनाव को काम ही नहीं करता बल्कि सुकून और शांति प्रदान करता है. अगर यकीन नहीं आये तो कल की किसी जरूरतमंद इंसान की की मद्द्त कीजिये और इसको अनुभव कीजिये.
इसके बाद आपको हमारी बातों पर यकीन हो जायेगा. अगर आप दूसरों की मदद करेगें तो आपका जीवन शांत और संतोषपूर्ण होगा. जबकि जो लोग ऐसा नहीं करते उनके पास चाहे लाख संपत्ति हो मगर वो हमेशा तनाव में ही रहते हैं. जैसे ही जब आप दूसरों के लिए कुछ करते हैं, उसी पल खुशी की शुरुआत हो जाती हैं. आइये अब जानते है कि दूसरों की मद्द्त कैसे कर सकते हैं. How to helping the poor and needy.

With Self Help Group स्व-सहायता समूह बनाकर  Help kare.

हम सब को पता है कि हमारे देश में गरीबी का असली जड़ अशिक्षा ही है. आज भले ही सरकार चाहे जितना दाबे कर लें मगर अशिक्षा दिनों-दिन दूर होने के बजाय और बढ़ती ही जा रही है. इसके असली वजह पर हम अभी बात नहीं करेंगे मगर, इसको दूर करने की शुरुआत करके भी हम किसी जरुरतमंद की मद्द्त कर सकते हैं.
हम ऐसे कतई नहीं कह रहें कि आप किसी को अपना पैसा देकर पढ़ाओ. इसके आलावा और भी बहुत सारा काम है, जिससे आप किसी की मदद कर सकते हैं. जब लोग टीम बनाकर दंगा करवा सकते हैं तो क्या हम Self Help Group जैसा टीम बनाकर जरूतमंदों की मद्दत क्यों नहीं कर सकते हैं.

बच्चे की पुरानी किताबें किसी गरीब और जरूरतमंदों को दान करें Donate old books of child to the poor and needy

अगर आपके पास समय है तो अपने आसपास के बच्चे को पढ़ा भी सकते हैं. हर रोज न सही तो कम-से-कम सप्ताह में भी उनके साथ बैठकर उनसे पढाई-लिखाई के आलावा व्यवहारिक ज्ञान आदि पर चर्चा कर सकते हैं. अब अगर आपके पास इतना भी समय नहीं है तो आप अपने बच्चे के पुरानी किताबें किसी जरूरतमंद गरीब बच्चे को Donate कर सकते हैं.

इसके आलावा अपने टोले-मोहल्ले के गरीब अनपढ़ लोगों को भी आप टाइम निकला कर पढ़ा सकते हैं. हमारे हिसाब से कम से कम इतना तो हर किसी को पढ़ा-लिखा होना चाहिए कि अपना हक़ और अधिकार को आसानी से समझ सके. 

काम पढ़े लिखे लोगों को सामाजिक सहायता प्रदान करें | Provide social assistance to low-educated people

हमने कई बार देखा है कि बहुत सारे मामले जैसे राशन कार्ड, वृद्धा पेंशन, बैंक संबधी समस्या, पुलिस आदि का चक्कर में कम पढ़े-लिखे लोगो को बहुत ही परेशानी का सामना करना पड़ता है. आप कोशिश करें कि ऐसे लोगों की Help ही नहीं करें बल्कि कम से कम उनके अंदर इतनी जानकारी भर दें कि वो आगे से इस तरह एक मुद्दे से खुद निपट सकें.

रोटी बैंक की स्थापना करें | Establish Roti bank

आजकल कुछ स्थानों पर दयालु और ऊर्जावान लोग रोटी बैंक चला रहे हैं. इसमें सभी लोग थोड़ा-थोड़ा रोटी Contribute कर रोटी बैंक में जमा करते हैं. जहां से गरीब और भूखे लोग का पेट भरता हैं. इस तरीके से आप समाज के Poor और Needy (जरूरतमंद) की Help कर सकते हैं.

घर का बेकार Medicine इकठ्ठा कर Chemist से बदल कर poor and needy की Help करें 

अक्सर देखने में आया है कि जब भी हम या हमारे परिवार में कोई बीमार पड़ता है तो हम डॉक्टर से दिखवाते हैं. जिसके बाद ठीक होने के बाद बहुत सी Medicine बच जाती है. इसको हम Chemist से बदल कर उसके बदले किसी Poor और Needy ( जरूरतमंद) को जरुरत की दवाई दिला सकते हैं.

टीम बनाकर सफाई अभियान  चलायें | Team up and run cleaning campaign

दिल्ली के खिचड़ीपुर में कुछ उत्साही युवाओं ने खुद एक “Akta Group” बनाया हुआ है. वो हर Sunday अपने Team के साथ अलग-अलग मुहल्ले में जाते हैं. इसके बाद साफ़-सफाई के कार्यक्रम के साथ वहां के लोगों को भी इसके फायदे बताते हैं. एक तरह से देखें तो गन्दी ही ज्यादातर बीमारी की जड़ है. अगर इस तरह से हर कोई सोचे तो देश की आधी बिमारी तो ऐसे ही दूर हो जाएगी.

फुटपाथ या Red Light वेंडर से सामान खरीद कर Help करें 

आज हर कोई Mall से खरीदारी करने लगा है. हम Cloth से लेकर Vegetable और इलेक्ट्रॉनिक सामान तक Mall और Online Shoping (ऑनलाइन शॉपिंग) के द्वारा खरीदने लगे हैं. अब भले ही हमें इससे Benefits हो मगर देश के लाखों स्ट्रीट वेंडरों के चूल्हे आपके खरीदारी पर ही निर्भर करते हैं.
आज आप भले ही 1000 रुपया Mall में दे आओ तो वह एक ही मालिक के जेब में आयेगा. अगर इतना ही पैसा का सामान से 2-3 रेहड़ी वालों का परिवार एक दिन भरपेट खा सकता है. आज भी रेहड़ी पर छोले भठूरे 20 रूपये का 2 तो रेस्टुरेंट में 300-600 रूपये का मिलता है. कोशिश करें की कभी-कभी इनको मदद करने के मन से ही कुछ खरीब लिया करें. खासकर Red Light पर, कम से काम ये भीख तो नहीं मांगते.

जन्मदिन में भिखारियों को भोजन करायें.

हमेशा कोशिश करें कि स्वास्थ्य, जवान और बच्चे भिखारी को कभी भीख न दें. अक्सर देखा गया है कि रैकेट और गुंडे फुटपाथ और रेड लाइट पर भीख मंगवाते हैं और आप उनको भीख नहीं देंगे तो शायद आने वाले दिनों में वो बच्चों का इस काम में इस्तेमाल नहीं करेंगे. हां, अगर कोई Poor वृद्धा दिख जाए तो उनको Help जरूर कर दें. कोशिश करें कि भीख देने के बदल खाना या कोई जरुरत का सामान दें.

 

 पटपड़गंज में कुछ युवाओं ने टीम बना रखा है. आज के समय में कोई भी कम छोटा या बड़ा नहीं होता यह ये लोग साबित कर रहें हैं. वो हर रविवार को मोहल्ला-मोहल्ला घुमकर साफ़-सफाई भी करते हैं और लोगों को इसके फायदे भी बताते हैं. हर घर में लोग बीमार पड़ते हैं. अक्सर डॉक्टर जितनी दवाई लिखते हैं उतनी हम खा नहीं पाते हैं.

इसके कारण हर घर में कुछ दवाइयां बेकार पड़ी होती है. आप अपने साथियों के साथ मिलकर कोई केमिस्ट की दूकान वाले से बात करे लें. उनको बोलने कि हम अपने घरों के बचे दवाई आपको लाकर देंगे. आप इसके बदले जरुरत मंद और गरीब लोगों को उतने ही पैसे की दवाई मुफ्त में दोगे. यह काम थोड़ा मुश्किल है मगर नामुमकिन नहीं. 

छोटे और पुराने कपड़े इकट्ठा कर Poor और Needy People में बांटें.

आप अपने गली-मोहल्ले में घूम कर छोटे और पुराने कपड़े इकट्ठा कर सकते हैं. जिसको साफ़-सफाई करवाने के बाद जरुरतमंद गरीब को बांट सकते हैं. इसके आलावा और भी काम है. जिसको करने के बाद आपको बहुत ही सुकून मिलेगा.
दोस्तों हो सकता है, शुरू-शुरू में थोड़ा मेहनत लगेगा मगर धीरे-धीरे आम हो जायेगा. आप आज से ही नई शुरुआत करें. अगर कोई सुझाव हो तो जरूर कमेंट बॉक्स में लिखियेगा. अगर पसंद आया तो इसमें शामिल किया जायेगा.
Share this

आपके पास वर्कर से सम्बंधित कोई जानकारी, लेख या प्रेरणादायक संघर्ष की कहानी है जो आप हम सभी के साथ share करना चाहते हैं तो हमें Email करें – [email protected]

WorkerVoice.in को सुचारु रूप से चलाने के लिए नीचे Pay बटन पर क्लिक कर आर्थिक मदद करें-

8 thoughts on “How to helping the poor and needy | गरीबों और जरूरतमंदों की मदद कैसे करें?”

  1. Mai longo ko help krne ka he kam batch pn se karta aya hu muze es kam ko badhaneka hai eskeliye foudation kholna sahi hai ?

    Reply
    • यह तो अच्छी बात हैं. आप अपने समय और सामर्थ्य के हिसाब से मदद कर सकते हैं.

      Reply
  2. Sir , mere papa 2 saal se berojgaar h aur kahi se help nhi h , mere ghar me bahut pareshani ho rhi h please sir help me

    Reply
  3. Maii ne apki shab lines padha haii mere man mai thaa mai inlog keliye kya karu kya kar shak thi ho apka lines padha kar smjha aagya mai kya kar shak thi ho …Thanku so much sir please ap log ashe lines likha kariye ki hmm log ko help mila shake

    Reply

Leave a Comment